शेयर मार्केट का हुआ ये हाल… निवेशकों के डुबे 56 हजार करोड़ रुपए

नई दिल्ली. सेंसेक्स की शीर्ष दस में से चार कंपनियों का बाजार पूंजीकरण (मार्केट कैप) बीते सप्ताह 55,681.8 करोड़ रुपये घट गया. इसमें टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेस (टीसीएस) और हिंदुस्तान यूनिलीवर (एचयूएल) को सबसे अधिक नुकसान हुआ. इनके अलावा रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड और आईटीसी का बाजार पूंजीकरण भी इस दौरान घटा है.

इसके अलावा आईसीआईसीआई बैंक, एचडीएफसी लिमिटेड, एचडीएफसी बैंक, इन्फोसिस, कोटक महिंद्रा बैंक और भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) के बाजार पूंजीकरण में बढ़ोतरी हुई. हालांकि, इन सभी कंपनियों का बाजार पूंजीकरण कुल 54,875.04 करोड़ रुपये बढ़ा है जो बाकी चार को हुए नुकसान से कम है.

टीसीएस ने कराया सबसे ज्यादा नुकसान

टीसीएस के बाजार मूल्यांकन में सबसे अधिक गिरावट आई. उसका बाजार पूंजीकरण 26,900.6 करोड़ रुपये घटकर 6,22,401.90 करोड़ रुपये रह गया. हिंदुस्तान यूनिलीवर का बाजार पूंजीकरण 20,230.2 करोड़ रुपये घटकर 4,51,633.92 करोड़ रुपये रह गया.रिलायंस इंडस्ट्रीज का बाजार पूंजीकरण 7,383.37 करोड़ रुपये घटकर 9,16,230.34 करोड़ रुपये और आईटीसी का बाजार मूल्यांकन 1,013.61 करोड़ रुपये घटकर 3,20,032.38 करोड़ रुपये रहा.

फायदा कराने में आईसीआईसीआई बैंक आगे

आईसीआईसीआई बैंक का बाजार मूल्यांकन सबसे अधिक बढ़ा. बैंक की बाजार हैसियत 17,760.52 करोड़ रुपये बढ़कर 3,16,295.56 करोड़ रुपये पर पहुंच गया.इसके बाद एचडीएफसी लिमिटेड का बाजार पूंजीकरण 17,594.97 करोड़ रुपये बढ़कर 3,85,129.55 करोड़ रुपये, एचडीएफसी बैंक का 7,854.78 करोड़ रुपये बढ़कर 6,86,786.97 करोड़ रुपये, इन्फोसिस का 5,747.24 करोड़ रुपये बढ़कर 3,04,282,28 करोड़ रुपये, कोटक महिंद्रा बैंक का 3,820.24 करोड़ रुपये बढ़कर 3,05,657.59 करोड़ रुपये और भारतीय स्टेट बैंक का 2,097.29 करोड़ रुपये बढ़कर 2,81,883.86 करोड़ रुपये पर पहुंच गया.

ये हैं टॉप 10 कंपनियां

बाजार पूंजीकरण के लिहाज से रिलायंस इंडस्ट्रीज शीर्ष पर रही. इसके बाद क्रमश: टीसीएस, एचडीएफसी बैंक, हिंदुस्तान यूनिलीवर, एचडीएफसी, आईटीसी, आईसीआईसीआई बैंक, कोटक महिंद्रा बैंक, इन्फोसिस और एसबीआई का स्थान रहा. बीते सप्ताह बंबई शेयर बाजार का 30 शेयरों वाला सेंसेक्स 158.58 अंक या 0.39 प्रतिशत लाभ में रहा.

सोना-चांदी के दाम धड़ाम… इससे अच्छा नहीं मिलेगा खरीदने का मौका

Related Articles

Back to top button
survey lalluram
Close
Close
धन्यवाद, लल्लूराम डॉट कॉम के साथ सोशल मीडिया में भी जुड़ें। फेसबुक पर लाइक करें, ट्विटर पर फॉलो करें एवं हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।