राज्य स्तरीय शालेय क्रीड़ा प्रतियोगिता का समापन, मंत्री भेंड़िया ने कहा- हार-जीत खेल का हिस्सा, हारने वाले खिलाड़ी निराश न हों…

बालोद। हार-जीत खेल का हिस्सा है. हारने वाले खिलाड़ियों को निराश नहीं होना चाहिए. कड़ी मेहनत और लगन से निश्चित ही सफलता मिलती है. यह बात प्रदेश की महिला एवं बाल विकास तथा समाज कल्याण मंत्री अनिला भेंड़िया ने उन्नीसवीं राज्य स्तरीय शालेय क्रीड़ा प्रतियोगिता के समापन समारोह को मुख्य अतिथि की आसंदी से कही. उन्होंने विजेता प्रतिभागियों को पुरस्कार प्रदान कर अपनी बधाई एवं शुभकामनाएं दी.

सरदार वल्लभ भाई पटेल मैदान में आयेाजित चार दिवसीय खेल आयोजन के समापन पर मंत्री भेंड़िया ने प्रतिभागी छात्र-छात्राओं से कहा कि खेल के क्षेत्र में राष्ट्रीय-अन्तर्राष्ट्रीय स्तर पर उत्कृष्ट प्रदर्शन कर प्रदेश का नाम रोशन करें. कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए बालोद विधायक संगीता सिन्हा ने प्रतिभागी छात्र-छात्राओं को शुभकामनाएं दी. कलेक्टर रानू साहू ने कहा कि खेलों में कड़ी मेहनत और उत्कृष्ट प्रतिभा का प्रदर्शन कर अपने करियर का निर्माण कर सकते हैं.

कार्यक्रम में स्कूली खिलाड़ियों ने मार्च पास्ट कर मुख्यअतिथि को सलामी दी. इसके अलावा छात्र-छात्राओं ने सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किया. इस अवसर पर नगर पालिका परिषद दल्लीराजहरा के अध्यक्ष काशीराम निषाद सहित बड़ी संख्या में विद्यार्थी तथा गणमान्य नागरिक उपस्थित थे.

उन्नीसवीं राज्य स्तरीय शालेय क्रीड़ा प्रतियोगिता में प्रदेश भर के बारह जोन क्रमशः दुर्ग, बस्तर, रायपुर, बिलासपुर, जांजगीर-चाम्पा, जशपुर, कबीरधाम, कांकेर, कोरिया, कोण्डागॉव, राजनांदगांव, सरगुजा के प्रतिभागी छात्र-छात्राओं ने भाग लिया. प्रतियोगिता में पांच खेल टेनिस बॉल क्रिकेट, रस्साकसी, थाई बाक्सिंग, म्युथाई और नेटबाल में भाग लेकर प्रतिभागियों ने अपनी प्रतिभा का प्रदर्शन किया.

Related Articles

Back to top button
Close
Close
धन्यवाद, लल्लूराम डॉट कॉम के साथ सोशल मीडिया में भी जुड़ें। फेसबुक पर लाइक करें, ट्विटर पर फॉलो करें एवं हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।