विकास की राह में नक्सली रोड़ा, IED ब्लास्ट कर उड़ाया पुल, आवागमन हुआ पूरी तरह बंद

गोरगुंडा के पास दोरनापाल-जगरगुंडा मार्ग पर स्थित है पुल. इसी पुल में नक्सली कई बड़ी वारदातों को दे चुके हैं अंजाम

शिवा यादव,सुकमा। बस्तर में विकास की राह में नक्सली लगातार रोड़ा बने हुए हैं. विकास होता देख बौखलाए नक्सलियों ने सुकमा जिले में दोरनापाल को जगरगुंडा से जोड़ने वाली मुख्य मार्ग पर स्थित पुल को आईईडी लगाकर ब्लास्ट कर दिया है. ब्लास्ट इतना बड़ा था कि पुल पूरी तरह से क्षतिग्रस्त हो गया है. अब इस पुल के ऊपर से भारी वाहनों का गुजरना संभव नहीं है, जब तक इसकी मरम्मत न की जाए.

जानकारी के मुताबिक बीत रात करीब 9 बजकर 45 मिनट में अचानक एक जोरदार धामाके की आवाज सुनाई दी. करीब दो किलोमीटर के दूरी पर स्थित सीआरपीएफ 74 का कैम्प है. धामाके की आवाज के बाद तुरंत टीम को रवाना किया गया. तब पता चला कि नक्सलियों ने एक पुल को आईईडी ब्लास्ट कर उड़ा दिया गया है. जिसके बाद से आवागमन बंद है.

बता दें कि कुछ वर्ष पहले तक नक्सलियों ने इस पुल के पास कई बड़ी घटनाओं को अंजाम दिया है. जबसे सीआरपीएफ के कैम्प की स्थापना की गई, तब से घटनाओं में काफी कमी आई थी. पहले यहां पर अपहरण और लूटपाट की घटनाओं को नक्सली अंजाम दिया करते थे.

Related Articles

Back to top button
Close
Close
 
धन्यवाद, लल्लूराम डॉट कॉम के साथ सोशल मीडिया में भी जुड़ें। फेसबुक पर लाइक करें, ट्विटर पर फॉलो करें एवं हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।