whatsapp

शिक्षा के मंदिर में ‘गरीबी’ का मजाकः स्कूल में शिक्षिका और उसके पति की बदसलूकी, बेवजह छात्रों की पिटाई, कहीं जाकर मर जाओ, प्राचार्य के सह पर बेरहमी…

जीपीएम, गौरव जैन. आदिवासी बहुल जिला गौरेला-पेन्ड्रा -मरवाही के दूरस्थ क्षेत्रों के सरकारी स्कूलों के टीचरों का खराब व्यवहार और मनमाने रवैय्ये से बच्चों की पढ़ाई प्रभावित हो रही है. मामला गौरेला ब्लॉक के केवची हाईस्कूल का है. यहां के छात्र-छात्राओं की शिकायत है कि इनके स्कूल में पदस्थ शिक्षिका पूजा कमल के द्वारा बच्चों को धमकी देना, मर जाने जैसे शब्दों का इस्तेमाल किया जाता है.

पीड़ित बच्चों ने बताया कि, शिक्षिका बच्चों के गरीबी का मजाक उड़ाने के साथ बेवजह मार-पिटाई करती हैं. साथ ही इनके पति अनाधिकृत रूप से क्लास में प्रवेश कर जाते हैं और शराब तक ले आते हैं. 25 किलोमीटर दूर केवची से गौरेला शिकायत करने आये बच्चों ने बताया कि स्कूल के प्राचार्य को भी इस संबंध में शिकायत की जा चुकी है, पर वे किसी प्रकार की कोई कार्रवाई नहीं करते वे स्वयं देर से स्कूल पहुंचते हैं. बच्चों के द्वारा जिला शिक्षा अधिकारी को शिकायत पत्र दिया गया है और दोनों शिक्षिका और प्राचार्य सतीश कुमार पाटिल पर कार्रवाई की मांग की है.

Related Articles

Back to top button