MP में शिक्षिका ने बच्चों से जबरन कराई शौचालय की सफाई, घर में बताने पर की पिटाई, डर के कारण हफ्तों से स्कूल नहीं जा रहे बच्चे

दीपक ताम्रकार, डिंडोरी। मध्यप्रदेश के डिंडोरी जिले से स्कूल में बच्चों से जबरन शौचालय सफाई कराने का मामला सामने आाय है। इसके बाद बच्चे अब हफ्तों से पढ़ने के लिए स्कूल नहीं जा रहे हैं। मामला आदिवासी बहुमूल्य जिला डिंडोरी की विकास खंड बजाग अंतर्गत पड़रिया डोगरी प्राथमिक स्कूल है।

बच्चों का आरोप है कि प्रधान पाठक मंजू लता रौतेल शौचालय की सफाई की बात घर में बताने पर मारपीट करती है। प्रधान पाठक की डर का आलम यह है कि बच्चें हफ्तों से स्कूल नहीं जा रहे हैं। मामले में क्षेत्र के बीआरसी जांच कराने की बात कह रहे हैं।

इसे भी पढ़ेः हे मां! अगले जन्म मोहे बिटिया न कीजोः नशे में धुत पिता ने 10 साल की बेटी को पीट-पीटकर मार डाला

जानकारी के अनुसार संकुल बजाग के अंतर्गत पड़रिया डोगरी स्थित प्राथमिक शाला भवन में पढ़ाई कर रहे साहिल पिता सुखदेव मरावी निवासी पड़रिया डोंगरी (7 साल) कक्षा तीसरी का छात्र है। बच्चे ने बताया कि स्कूल में पदस्थ प्रधान पाठक मंजू लता रौतेल ने शौचालय की सफाई कराई।

इसे भी पढ़ेः पापा छोड़कर चले गएः 2 साल की बेटी के सामने पिता ने लगा ली फांसी, रात भर शव के पास बिलखती रही मासूम

बच्चे ने इसकी शिकायत घर आकर माता-पिता से की। घटना से हताहत होकर बच्चे के पिता सुखदेव मरावी प्रधान पाठक मंजू लता रौतेल से जानकारी लेनी चाही लेकिन जानकारी देने से मना कर दिया गया। बच्चे के विद्यालय आने पर प्रधान पाठक मंजू लता रौतेल तिलमिला उठी और बच्चे से मारपीट की घटना से मासूम बच्चे के दिमाग में इतना डर बैठ गया है कि हफ्तों से स्कूल नहीं जा रहे हैं।

इसे भी पढ़ेः महाकाल मंदिर में डांस करने वाली महिला पर एफआईआर दर्ज, गृह मंत्री बोले- भावनाओं के साथ खिलवाड़ ना करें

जांच में शिकायत सही होने पर की जाएगी कार्रवाई
डिंडोरी बीआरसी अधिकारी बजाग ने कहा कि मुझे आप लोगों से इसकी जानकारी मिली है। पड़रिया डोंगरी स्थित विद्यालय में बच्चे से शौचालय साफ एवं मारपीट किया गया है। यह गलत है। मैं जन शिक्षक को भेजकर पता करवाता हूं। अगर ऐसा हुआ है तो शिक्षकों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

इसे भी पढ़ेः पिता बना हैवानः डेढ़ साल की मासूम और खुद के गले में फंदा डाल फांसी लगाने कोशिश की, 45 मिनट चले हाई वोल्टेज ड्रामे के बाद पुलिस ने दोनों की बचाई जान

">

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!
 
धन्यवाद, लल्लूराम डॉट कॉम के साथ सोशल मीडिया में भी जुड़ें। फेसबुक पर लाइक करें, ट्विटर पर फॉलो करें एवं हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।