राजस्थान कांग्रेस में फिर उपजे विवाद पर बोले पूर्व मंत्री – अंतर्कलह सुलझाने बनी कमेटी ही दोषी

हेमंत शर्मा, इंदौर। राजस्थान कांग्रेस में बीते साल सचिन पायलट खेमे की ओर से अशोक गहलोत सरकार से बगावत की चिंगारियां ऊपरी तौर पर भले ही ठंडी पड़ गई हो, लेकिन इसके शोले रह-रहकर अंदर ही अंदर सुलग रहे हैं. गाहे-बगाहे इसकी चिंगारियां बाहर आती रहती हैं. एक बार फिर राजस्थान की सियासत में उबाल आना शुरु हो गया है. इसी मामले पर मध्य प्रदेश के कांग्रेस नेता एवं पूर्व मंत्री सज्जन सिंह वर्मा ने राजस्थान झगड़े के निपटारा के लिए बनाई गई कमेटी पर सवाल खड़े किए हैं. वर्मा ने कहा कि ऐसी कमेटी को दोष देता हूं, जो आठ महीने बाद भी कोई निर्णय नहीं ले पाई.

Close Button

इसे भी पढ़ें ः पेट्रोल ने 103 के पार डीजल शतक के नजदीक, शिवराज के मंत्री ने कहा- कांग्रेस ने ही पेट्रोलियम के दाम बढ़ाए

कांग्रेस नेता एवं पूर्व मंत्री सज्जन सिंह वर्मा ने कहा कि राजस्थान के पूर्व उपमुख्यमंत्री सचिन पायलय ने अपने अस्तित्व की लड़ाई कांग्रेस में रह कर लड़ी है. कमेटी ने अबतक कोई निर्णय नहीं ले पाई है. ऐसे में अब कमेटी के लोगों को कोई महत्वपूर्ण जिम्मेदारी नहीं देना चाहिए.

राजस्थान के प्रभारी महासचिव बनाए गए अजय माकन को मामले को शांत करने और हल निकालने की जिम्मेदारी सौंपी गई थी. हालांकि माकन ने सचिन के लोगों को व्यवस्थित करने की कोशिश भी की, लेकिन अजय माकन ने भी अब राजस्थान आना छोड़ दिया है.

इसे भी पढ़ें ः जितिन प्रसाद के बीजेपी में शामिल होने पर कांग्रेस का कटाक्ष, कहा- भाजपा वाले जल्द भाजपा में अल्पसंख्यक हो जाएंगे

राजस्थान में 1 साल बाद भी नई हुआ निपटारा

गौरतलब है कि राजस्थान कांग्रेस के एक साल पूरे होने के बाद फिर से राजनीति गर्म हो रही है. राजस्थान के पूर्व उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट ने कहा है कि सुलह के मौके पर आलाकमान की तरफ से जो वादे किए गए थे, उस पर अब तक कोई कार्रवाई नहीं होना दुखद है. सचिन पायलट ने कहा जब दिल्ली में समझौता हुआ था तो कहा गया था कि कमेटी बनाकर जो भी समस्याएं आएंगी, उसे त्वरित तरीके से निपटाया जाएगा. 9 महीना बीतने के बाद भी इस मामले में कुछ भी नहीं हुआ.

इसे भी पढ़ें ः नए पदाधिकारियों के जश्न पर बीजेपी ने लगाई रोक, कांग्रेस ने कहा- बीजेपी में सिंधिया समर्थकों पर आपातकाल

हमारे whatsapp ग्रुप से जुड़ने के लिए इस लिंक पर क्लिक करें

Related Articles

Back to top button
 
धन्यवाद, लल्लूराम डॉट कॉम के साथ सोशल मीडिया में भी जुड़ें। फेसबुक पर लाइक करें, ट्विटर पर फॉलो करें एवं हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।