Contact Information

Four Corners Multimedia Private Limited Mossnet 40, Sector 1, Shankar Nagar, Raipur, Chhattisgarh - 492007

कर्ण, मिश्रा ग्वालियर। शहर में पुलिस हिरासत में जहर खाने से युवक की मौत हो जाने का सनसनीखेज मामला सामने आया है। आरोपी नाबालिग के अपहरण का दोषी और गुरुवार रात अपह्रत नाबालिग किशोरी के साथ जनकगंज थाने पहुंचा था। थाने में पूछताछ के बाद उसे इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया, लेकिन इलाज के दौरान उसकी मौत हो गयी। पुलिस अधीक्षक ने मामले की न्यायिक जांच के आदेश दिए है। वहीं मृतक के परिजनों ने नाबालिग किशोरी की मां पर जहर देने का आरोप लगाया है।

पूरा मामला जनक गंज थाना क्षेत्र के अंतर्गत गोल पहाड़िया का है, जहां कृष्णा जैन नाम के युवक पर एक 14 साल की नाबालिग के अपहरण का मामला दर्ज कराया गया था। पुलिस और किशोरी के परिजन लगातार उनकी तलाश भी कर रहे थे। इसी बीच गुरुवार रात आरोपी कृष्णा जैन अपह्रत नाबालिग किशोरी को लेकर जनक गंज थाने पहुंचा। उसके साथ किशोरी की मां भी मौजूद थी। पुलिस ने तत्काल आरोपी कृष्णा जैन को हिरासत में ले लिया। इस दौरान दोनों ने पुलिस को बताया कि वह एक दूसरे से प्यार करते हैं यही कारण है कि वह जहर खाकर अपनी जिंदगी खत्म करना चाहते हैं। इस दौरान पुलिस को किशोरी से सल्फास पावडर बरामद हुआ। आरोपी कृष्णा से सल्फास के बारे में पूछताछ की तो उसने बताया कि वह जहर खा चुका है।

आनन-फानन में उसे ग्वालियर के जयारोग्य अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां शुक्रवार सुबह उसने इलाज के दौरान दम तोड़ दिया। इस पूरे मामले को लेकर वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अमित सांघी का कहना है कि आरोपी को पुलिस हिरासत में लिया जा चुका था और इस दौरान उसकी मौत हुई है। इसके चलते जिला सत्र न्यायालय को पत्र लिखकर पूरे मामले की न्यायिक जांच कराई जा रही है। फिलहाल फॉरेंसिक एक्सपर्ट के साथ न्यायिक जांच के आधार पर पुलिस ने आगे की कार्रवाई की बात कही है। वही मृतक कृष्णा जयंत के परिजनों ने किशोरी की मां पर जहर देकर उसे मारने का आरोप लगाया है। ऐसे में पुलिस सभी बिंदुओं के आधार पर जांच में जुटी हुई है।

Read more- Health Ministry Deploys an Expert Team to Kerala to Take Stock of Zika Virus