…तो ये है बीसीसीआई का यूएई में होने वाले आईपीएल को लेकर पूरा प्लान

स्पोर्ट्स डेस्क- ऑस्ट्रेलिया में मौजूदा साल होने वाली टी-20 वर्ल्ड कप जैसे ही आईसीसी ने रद्द किया, उसके बाद ही बीसीसीआई ने ये क्लियर कर दिया था कि मौजूदा साल इस कोरोनाकाल में भी आईपीएल का आयोजन होगा, और इस बार आईपीएल का आयोजन भारत में नहीं बल्कि यूएई में होगा, क्योंकि अभी भी भारत में कोरोना मरीजों की संख्या लगातार बढ़ रही है, जिसके चलते बीसीसीआई ने ये अहम फैसला लिया है, और अब बीसीसीआई ने इसे लेकर अपने पूरे योजना को विस्तार से साझा किया है।

Close Button

 इस बार कोरोनाकाल की वजह से आईपीएल का आयोजन भारत में नहीं बल्कि यूएई में 19 सितंबर से शुरू होने जा रहा है, इसी बीच आईपीएल संचालन परिषद की बैठक भी टेलीकॉन्फ्रेंस के माध्यम से होगी, इसके बाद रविवार और सोमवार को आईपीएल के प्रमुख हितधारकों, फ्रेंचाईजी मालिकों, प्रसारकों और मुख्य प्रायोजकों के साथ बैठक होगी, इन सभी बैठकों का मुख्य मकसद आईपीएल के आयोजन की तैयारियों को अंतिम रूप देना।

जैव सुरक्षित वातावरण जरूरी

आईपीएल का आयोजन इस बार कोरोनाकाल की वजह से जैव सुरक्षित वातावरण में ही होगा, हर फ्रेंचाईजी को अपना जैव सुरक्षित वातावरण बनाना होगा, जिसमें टीम के सभी सदस्य सीमित लोगों के साथ ही बातचीत कर सकेंगे, कुछ इसी तरह का जैव सुरक्षित वातावऱण बोर्ड, आईएमजी, ब्रॉडकास्टर्स और दूसरे के लिए बनाया जाएगा, किसी को भी जैव सुरक्षित वातावरण के बाहर लोगों के साथ बातचीत करने की परमीशन नहीं होगी।

 अपनी यात्रा का प्रबंध खुद फ्रेंचाईजी को करना होगा

 इस बार आईपीएल में अपनी यात्रा का प्रबंध खुद फ्रेंचाईजी टीमों को करना होगा, बीसीसीआई डिस्काउंट रेट के लिए होटलों से बात करेगा, और फ्रेंचाईजी को इसकी जानकारी देगा, ये फ्रेंचाईजी पर रहेगा कि वो बीसीसीआई की ओर से दिए गए विकल्पों को चुने या अपना प्रबंध खुद करे। इसके अलावा फ्रेंचाईजी टीमों को अपने खिलाडियों को यूएई ले जाने और वहां से वापस लाने की व्यवस्था खुद ही करना होगा।

 एक्स्ट्रा खिलाड़ी ले जा सकता है बीसीसीआई

इसके अलावा बीसीसीआई ने ये भी साफ किया है कि फ्रेंचाइजी टीमें अपने साथ एक्स्ट्रा खिलाड़ी भी लेकर जा सकते हैं, इसके साथ ही खिलाड़ियों से संबंधित नीति में इस बार भी कोई बदलाव नहीं किया गया है, और फ्रेंचाईजी एक्ट्रा खिलाड़ी लेकर जा सकता है।

51 दिन में 60 मैच

इसके अलावा इस बार आईपीएल में 51 दिन में 60 मैच खेले जाएंगे, योजना के मुताबिक बीसीसीआई के सेंट्रल रेवेन्यू पूल के वितरण में कोई बदलाव नहीं होगा। बोर्ड के मुताबिक इस बार आईपीएल में गेट मनी पर ध्यान नहीं दिया जाएगा। 

Related Articles

Back to top button
Close
Close
 
धन्यवाद, लल्लूराम डॉट कॉम के साथ सोशल मीडिया में भी जुड़ें। फेसबुक पर लाइक करें, ट्विटर पर फॉलो करें एवं हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।