जामा मस्जिद में टिक-टॉक हुआ बैन, इस वजह से लगाया गया प्रतिबंध

नई दिल्ली। टिक-टॉक को कोर्ट ने बैन करने के बाद भले ही हटा दिया हो लेकिन एक बार फिर इस पर प्रतिबंध लग गया है. हालांकि अब की बार प्रतिबंध कोर्ट ने नहीं बल्कि जामा मस्जिद ने लगाया है. टिक टॉक उपयोगकर्ता जामा मस्जिद के भीतर वीडियो नहीं बना पाएंगे.

दरअसल दो विदेशी लड़कियों ने जामा मस्जिद के भीतर वीडियो बनाया था. वीडियो वायरल होने के बाद मस्जिद कमेटी ने यहां पर प्रतिबंध लगा दिया. दोनों विदेशी लड़कियों ने जामा मस्जिद में नमाज पढ़ने वाले कक्ष के पास डांस करते हुए टिक-टॉक वीडियो बना रही थीं.

अब जामा मस्जिद के अंदर सिविल डिफेंस के मेम्बर 55 साल के कैफियत खान लोगों पर नज़र रखे हुए हैं. उनका काम है मस्जिद के अंदर तस्वीर और वीडियो बनाने वालों को रोकना.

उन्होंने बताया कि मस्जिद में लड़कियों का डांस वीडियो के वायरल हो जाने के बाद अब किसी को भी यहां वीडियो बनाने की इजाजत नहीं है. यहां हज़ारों लोग नमाज़ पढ़ने आते हैं. यहां घूमने आने वालों लोगों को फोटो और वीडियो का बहुत शौक होता है, लेकिन इस वाक्ये के बाद अब जामा मस्जिद में वीडियो बनाने की मनाही है.

विज्ञापन

धन्यवाद, लल्लूराम डॉट कॉम के साथ सोशल मीडिया में भी जुड़ें। फेसबुक पर लाइक करें, ट्विटर पर फॉलो करें एवं हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।