मुठभेड़ में मारे गए नक्सलियों पर 6 लाख का था इनाम, डीएम अवस्थी ने जवानों को दिया नगद पुरुस्कार

सुशील सलाम,कांकेर। नक्सल विरोधी अभियान के तहत डीआरजी के जवानों को कांकेर के मुरनार के जंगलों में बीती रात बड़ी सफलता मिली है. मुठभेड़ में मारे गए नक्सलियों की पहचान कोरर बुधियारमारी एलजीएस कमांडर दीपक उर्फ़ पीलाराम 5 लाख का इनामी और किसकोड़ो एलजीएस सदस्य रतिराम पर 1 लाख रुपए का इनाम था. डीजीपी डीएम अवस्थी ने खुद कांकेर जाकर जवानों को बधाई देते हुए हौसला अफजाई किया और नगद पुरुस्कार दिया.

डीजीपी डीएम अवस्थी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस करते हुए कहा कि सभी जवान मिलकर काम करते हैं, डीआरजी के जवानों को ट्रेनिंग देकर फोर्स के साथ नक्सल इलाके में भेजा जाता है. कांकेर में भी 35 जवानों ने जंगल में जाकर बड़ी बहादुरी के साथ ऑपरेश किया है. चार वेपन मिला है जिससे यह स्पष्ट है कि चार नक्सली ढेर हुए होंगे और कुछ नक्सली घायल भी हुए है. लेकिन घायल और दो मारे गए नक्सली को उनके साथी ले गए है ऐसा लगता है. दो एसएलआर, एक थ्री नॉट थ्री और एक 315 बोर बन्दूक बरामद किया गया है. एक थ्री नॉट थ्री बंदूक विदेशों में मिलता है यह पहले नक्सलियों से सुकमा में मिला था अब दूसरा कांकेर में मिला है. दोनों तरफ से गोलीबारी हुई थी. जिसमें जवानों को बड़ी सफलता मिली है.

इसे भी पढ़ें- BREAKING: पुलिस-नक्सली मुठभेड़ में दो नक्सली ढेर, मौके से शव और चार हथियार बरामद

इस दौरान एडीजी सीआरपीएफ कुलदीप सिंह, आईजी बीएसएफ जेबी सांगवान सहित पुलिस के अधिकारी जवान मौजूद रहे. मुठभेड़ में मारे गए नक्सलियों के खिलाफ थाने में हत्या, लूट, डकैती जैसे कई अपराधिक मामले दर्ज है. बरामद हथियारों में एसएलआर एव जी 3 रायफल जिसकी कीमत 1 लाख 50 हजार रुपए, 303 रायफल पर 75 हजार रूपए और 12 बोर रायफल पर 30 हजार समेत कई सामान जब्त किया गया है. दोनों नक्सलियों के शव भी बरामद किया गया है. इस दोनों की पहचान सरेंडर किए गए नक्सलियों से कराई गई है.

 

विज्ञापन

धन्यवाद, लल्लूराम डॉट कॉम के साथ सोशल मीडिया में भी जुड़ें। फेसबुक पर लाइक करें, ट्विटर पर फॉलो करें एवं हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।