सफेदी की आड़ में मिलिट्री को सप्लाई होने वाली शराब का काला खेल, आबकारी टीम ने किया ट्रैप, ऐसे हुआ खुलासा

कर्ण मिश्रा/ग्वालियर। आबकारी विभाग सम्भागीय उड़ानदस्ते के उपनिरीक्षक मनीष द्विवेदी ने एक बड़ी कार्रवाई की है. इस कार्रवाई में मिलिट्री को सप्लाई होने वाली शराब को ब्लैक में बेचने का खुलासा हुआ है. इस दौरान भारी मात्रा में अंग्रेजी शराब जिसमें मिलिट्री कैंटीन को सप्लाई होने वाली शराब को बरामद किया है. मामले का खुलासा होने पर विभाग भी हैरान हो गया, क्योंकि मिलिट्री सप्लाई की शराब को ब्लैक में बेचने का काला खेल दूध डेयरी की आड़ में चल रहा था.

दरअसल, आबकारी विभाग को सूचना मिली थी कि ग्वालियर के एमएच चौराहा के पास रहने वाला अजीत सिंह यादव फ़ोन पर आर्डर लेकर मदिरा की फुटकर बिक्री होम डिलीवरी के रूप में करता है. जिस पर सहायक आबकारी आयुक्त संदीप शर्मा ने कार्रवाई करने के लिए उपनिरीक्षक मनीष द्विवेदी को निर्देश दिया.

SI ने ऑर्डर के बहाने दबोचा

जहां एसआई द्विवेदी ने आरोपी को फोन पर आर्डर देकर बातचीत की और जैसे ही वह ऑर्डर देने एमएच चौराहे पर पहुंचा, वैसे ही आबकारी टीम ने उसे दबोच लिया. आरोपी के पास से एक रम की बोतल बरामद की गई. जिस पर “For military person only व फ़ॉर डिफेंस पर्सनल ओनली कैंटीन सर्विस” लिखा था. टीम ने जब आरोपी के घर की तलाशी ली तो घर मे शराब का जखीरा बरामद हुआ.

इसे भी पढ़ें : BJP कार्य विभाजन की जारी सूची पर कांग्रेस ने सिंधिया को घेरा, कहा- सौदेबाजी से सत्ता मिल सकती है लेकिन संगठन में जगह नहीं

घर के बाथरूम और अलमारी में मिला जखीरा

आरोपी के घर से 3 पेटी बॉम्बे व्हिस्की (mp), 2 पेटी मेंकडवल नंबर 1 व्हिस्की (फ़ॉर सेल इन हरियाणा), 10 बोतल बरमूडा रम (फ़ॉर डिफेंस पर्सन/कैंटीन यूज़ ओनली), 3 बोतल ब्लेंडर्स प्राइड (डिफेन्स ओनली) और 2 पेटी बॉम्बे विस्की बरामद हुई. शराब की बरामदगी आरोपी के घर की गोदरेज अलमारी, पलंग के बॉक्स के साथ बाथरूम से हुई. बरामद मदिरा की क़ीमत लगभग 50 हज़ार रुपए आंकी गई जा रही है. आरोपी को मध्यप्रदेश आबकारी अधिनियम 1915 संशोधन 2000 की धारा 34(2) के तहत गिरफ्तार कर लिया गया है.

दूध डेयरी की आड़ में गोरख धंधा

गिरफ्तार आरोपी ने पुलिस से पूछताछ में बताया कि उसके घर से दूध विक्री का काम भी होता था, जिससे वह मिलिट्री क्षेत्र में सम्बन्ध बनाकर किसी से भी कैंटीन या मिलिट्री सप्लाई की शराब हासिल करता था. जिसे बाजार मूल्य से कम दाम पर लोगों को बेच कर रेट मर्ज़िन अपने पास रखता था. हालांकि आबकारी विभाग इस बात की जांच कर रहा है कि वह किन-किन लोगों से मिलिट्री की शराब खरीदता था. साथ ही MP मेड और हरियाणा मेड शराब को किन लोगों से खरीद बाजार में खपाता था.

इसे भी पढ़ें : वैक्सीनेशन सेंटर पर शराबी का हाई वोल्टेज ड्रामा, कहा- ”हम दिलजले हैं दिलजले और सबको चुटकियों में उड़ा देंगे”

Related Articles

Back to top button
 
धन्यवाद, लल्लूराम डॉट कॉम के साथ सोशल मीडिया में भी जुड़ें। फेसबुक पर लाइक करें, ट्विटर पर फॉलो करें एवं हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।