भाजपा सांसद ने फिर उठाया किसानों का मुद्दा, मुख्यमंत्री योगी को लिखा पत्र, सीएम से की ये अपील…

लखनऊ. भाजपा सांसद वरुण गांधी ने उत्तर प्रदेश के किसानों को राहत देने के लिए प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को लेटर लिखकर कई तरह की मांगें रखी हैं. रविवार को लिखे इस खत में वरुण गांधी ने मुख्यमंत्री से अपील की है कि गन्ने की कीमतों में अच्छी वृद्धि की जाए, गेहूं और धान की फसल पर बोनस दिया जाए, पीएम किसान योजना में मिलने वाली राशि को दोगुना कर दिया जाए और डीजल पर सब्सिडी दी जाए.

वरुण गांधी का यह खत किसानों को जरूर खुश कर सकता है, लेकिन योगी सरकार की मुश्किलें बढ़ सकती हैं. माना जा रहा है कि वरुण के इस लेटर के सहारे विपक्ष के साथ किसान संगठन भी योगी सरकार पर दबाव बढ़ा सकते हैंं. यूपी से तीन बार के सांसद वरुण गांधी किसानों से बातचीत की पैरवी भी करते आ रहे हैं. पीलीभीत से सांसद वरुण ने योगी को लिखे दो पन्ने के लेटर में किसानों की सभी समस्याओं, उनकी मांगों का जिक्र करते हुए उनके समाधान भी सुझाए हैं. वरुण गांधी ने सलाह दी है कि गन्ने का मूल्य 400 रुपए प्रति क्विंटल कर दिया जाए, जोकि अभी 315 रुपए प्रति क्विंटल है.

इसे भी पढ़ें – BJP सांसद ने किया किसान महापंचायत का समर्थन, कहा- अपने ही हैं प्रदर्शनकारी किसान

बता दें कि गन्ना मुख्यतौर पर पश्चिमी यूपी में उगाया जाता है, जो केंद्र सरकार के नए कृषि कानूनों के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे किसानों का केंद्र भी है. वरुण गांधी ने कहा है कि किसानों को गेहूं और धान पर 200 रुपए प्रति क्विंटल की दर से एमएसपी पर अतिरिक्त बोनस मिलना चाहिए. उन्होंने यह भी मांग रखी है कि प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि (पीएम-किसान) योजना के तहत मिलने वाली राशि को 6 हजार से बढ़ाकर 12 हजार रुपए कर दिया जाए. केंद्र की तरह राज्य सरकार भी 6 हजार रुपए सालाना दे. वरुण गांधी ने यूपी के सीएम से अपील की है कि किसानों को डीजल पर प्रति लीटर 20 रुपए की सब्सिडी दी जाए और बिजली की कीमत कर दी जाए.

पहले भी किसानों के समर्थन में बोल चुके हैं वरुण गांधी

बता दें कि इससे पहले भी भाजपा सांसद वरुण गांधी ने किसानों के समर्थन कर चुके हैं. उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर में 5 सितंबर को हुई किसानों की बड़ी महापंचायत को समर्थन देते हुए वरुण गांधी ने सरकार से किसानों का दर्द समझने की अपील की थी. उन्होंने कहा था कि प्रदर्शनकारी किसान अपने ही हैं. उन्होंने ने कहा था कि हमें किसानों का मत समझना होगा. हमें किसानों के साथ मिलकर साझा समाधान पर पहुंचना चाहिए. इससे पहले वरुण गांधी ने करनाल में हुए लाठीचार्ज की भी आलोचना की थी. वरुण गांधी ने लाठीचार्ज को लोकतांत्रिक मर्यादाओं के खिलाफ बताया था.

Read more – NEET Exam & JEE Result Today After Much Delay

">

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!
 
धन्यवाद, लल्लूराम डॉट कॉम के साथ सोशल मीडिया में भी जुड़ें। फेसबुक पर लाइक करें, ट्विटर पर फॉलो करें एवं हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।