Contact Information

Four Corners Multimedia Private Limited Mossnet 40, Sector 1, Shankar Nagar, Raipur, Chhattisgarh - 492007

लखनऊ. भारतीय जनता पार्टी ने समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव पर निशाना साधा और कहा कि इस चुनाव में जिन्ना को हमारी पार्टी ने नहीं लाया बल्कि अखिलेश यादव लाए हैं. राष्ट्रीय प्रवक्ता संबित पात्रा ने कहा कि अखिलेश यादव पाकिस्तान को दुश्मन नहीं मानते हैं. वे दुश्मन मानेंगे भी कैसे, जो करे जिन्ना से प्यार, वह कैसे करे पाकिस्तान से इंकार? भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता संबित पात्रा ने पत्रकारों से वार्ता के दौरान सपा मुखिया अखिलेश यादव पर जोरदार हमला बोला है.

उन्होंने कहा कि ‘पूर्व मुख्यमंत्री और सपा के नेता अखिलेश ने एक अखबार में साक्षात्कार में कहा कि वह पाकिस्तान को भारत का असली दुश्मन नहीं मानते, उन्होंने कहा भाजपा वोट की राजनीति के लिए पाकिस्तान को हमारा दुश्मन बताते हैं. मैं अखिलेश जी से पूछना चाहता हूं कि क्या जो कश्मीर के भाई-बहन पाकिस्तान द्वारा भेजे गए आतंकियों से मारे जाते हैं, क्या वो भारतीय नहीं हैं? जिन्ना से जो करे प्यार, वो पाकिस्तान से कैसे करे इनकार जिन्ना का नाम लेकर उतरे थे और वो आज पाकिस्तान पर पहुंच गए.

संबित ने कहा कि अखिलेश उम्मीदवार का नाम घोषित नहीं करेंगे क्योंकि उनकी सूची में अधिकतर उम्मीदवार गुंडे और मवाली भरे पड़े हैं. उन्हें पता है कि अगर वे सूची जारी करेंगे तो जनता के सामने उनकी पोल खुल जाएगी. संबित पात्रा इतना पर ही नहीं रुके उन्होंने जेल गए उम्मीदवार नाहिद हसन को लेकर भी अखिलेश यादव को घेरा. संबित ने कहा कि अगर आतंकी कसाब जिंदा होता तो अखिलेश उसे भी चुनाव में उतारने से नहीं हिचकते. उन्होंने कहा कि यह चुनाव भाजपा और सपा के एक्सप्रेसवे के बीच में है, भाजपा के एक्सप्रेसवे हैं गंगा एक्सप्रेसवे, पूर्वाचल एक्सप्रेसवे, बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे, गोरखपुर लिंक एक्सप्रेसवे और सपा के हैं गुंडई एक्सप्रेसवे, रंगदारी एक्सप्रेसवे और माफिया एक्सप्रेसवे, इन सभी में चुनना आपको है.

उन्होंने कहा कि आज उत्तर प्रदेश 73वां स्थापना दिवस है जो सभी के लिए गर्व का विषय है. 2017 से पहले यूपी में जिस तरह के लोग सत्ता में रहे उससे यूपी की छवि धूमिल हो गई थी, लेकिन 2017 के बाद योगी जो के नेतृत्व में यूपी आज सुरक्षित और समृद्ध प्रदेश है. इज ऑफ डूइंग बिजनेस में हम 12वें स्थान से दूसरे और आर्थिक व्यवस्था में छठे से दूसरे स्थान पर आए हैं. संबित ने कहा कि अभी अखिलेश यादव चुनाव आयोग को पत्र लिख रहे हैं कि ओपिनियन पोल पर रोक लगे. मैं कहना चाहता हूं कि अखिलेश को अभी ओपिनियन पोल बेकार लग रहा है. अब मैं लिख के दे सकता हूं कि 10 मार्च के बाद उन्हें ईवीएम भी बेकार लगेगी. संबित ने कहा कि अखिलेश यादव व्हाट्सएप से टिकट बांट रहे हैं.

">
Share: