सीएम योगी ने नव चयनित आबकारी निरीक्षकों को दी बधाई, कही ये बात…

लखनऊ. उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने नव चयनित आबकारी निरीक्षकों को बधाई दी है. उन्होंने कहा कि यूपी लोक सेवा आयोग ने ईमानदारी और पारदर्शिता से चयन किया. आपकी कार्यपद्धती, आपका आचरण और आपका व्यवहार अच्छा रहे यही अपेक्षा रहती है. कानून की व्यवस्था के विरुद्ध और किसी जीवन को खतरे में डालने वाला कोई काम ना हो.

सीएम योगी ने कहा कि युवाओं के साथ युवतियों ने भी आबकारी निरीक्षक के रूप में नियुक्ति प्राप्त की है. आपको किसी भी स्तर पर किसी सिफारिश की जरूरत नहीं पड़ी होगी. आयोग स्वायत्तशासी है सरकार उसमें कोई हस्तक्षेप नहीं करती है. गलत करने वालों के लिए सरकार की तलवार हमेशा लटकती है. युवाओं के सर्वाधिक संख्या उत्तर प्रदेश में है. युवाओं का लाभ देश और प्रदेश को मिले सरकार की यही मंशा है.

मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार अधिक से अधिक नौकरियों का सृजन करने का काम कर रही है. आज के 4 साल पहले शुचिता और ईमानदारी का अभाव था. पहले जातिवाद, क्षेत्रवाद और पता नहीं क्या-क्या प्रभावी रहता था. पिछले 4 सालों में सभी प्रकार की विघ्न-बाधाओं को दूर किया गया. यूपी के सभी आयोगों को संदेश दिया गया कि किसी भी भर्ती में पारदर्शिता होनी चाहिए. पिछले साढे चार साल में चार लाख से ज्यादा युवाओं को पारदर्शिता के साथ नौकरी दी गई.

सीएम योगी ने कहा कि प्रदेश में अच्छी कानून व्यवस्था के चलते ही निवेश आया. एक करोड़ 61 लाख नौकरी और रोजगार से युवाओं को जोड़ने में सफलता मिली. 60 लाख युवाओं को स्वतः रोजगार से जोड़ने में सफलता मिली है. 2002 से 2017 तक जितनी भर्तियां हुई है उससे ज्यादा भर्तियां 2017 के बाद से अब तक हुई. सरकार की भर्ती प्रक्रिया में कहीं कोई खोट नहीं, इमानदारी में कोई संदेह नहीं है. सरकार की भर्ती प्रक्रिया पर कोई उंगली नहीं उठा सकता है.

योगी ने कहा कि पहले नियुक्ति निकलने पर कुछ लोगों की अपनी प्रक्रिया प्रारंभ हो जाती थी. भ्रष्टाचारियों के वसूली के अड्डे और ठेके बंद हो गए. सरकार ने बड़े पैमाने पर ऐसे भ्रष्टाचारियों को जेल में डाला उनकी संपत्ति जब्त की है. 1500 करोड़ से ज्यादा की संपत्तियां जब्त होने के बाद वह चैन से कहां बैठेंगे. सरकार की व्यवस्था अनुशासन और परिश्रम से चलती है. सरकार का काम जनता की सेवा करना है. हम जनता के मालिक नहीं है जनता हमारी मालिक है. जनता का टैक्स राजस्व के रूप में एकत्र होता है. हमारे मालिकों के साथ कहीं कोई अन्याय नहीं होना चाहिए. आम जनमानस के साथ कहीं कोई दुर्व्यवहार उत्पीड़न ना हो. कहीं कोई निर्दोष व्यक्ति शासकीय प्रताड़ना का शिकार ना बने.

इसे भी पढ़ें – PM मोदी 30 जुलाई को UP के मेडिकल कॉलेजों का करेंगे लोकार्पण

मुख्यमंत्री ने कहा कि जनता के टैक्स से शासन-प्रशासन का संचालन होता है, हमारी जवाबदेही है. प्रदेश के युवा किसी के बहकावे में ना आएं. पहले परीक्षा फिर परिणाम फिर नियुक्त के नाम पर अव्यवस्था थी. जिसको अपनी प्रॉपर्टी जब्त करानी होगी वही गलत करेगा. किसी को भी गलत करने की छूट नहीं दी जा सकती. बेसिक शिक्षा परिषद के शिक्षकों को भी नियुक्ति पत्र देने जा रहे हैं. दिसंबर तक 50,000 और नौजवानों को नौकरी मिलेगी. पहले सत्ता के संरक्षण में पलने वाले गिद्धों से नौकरियां सुरक्षित नहीं थी. आज ईमानदारी और सुचिता के साथ भर्ती प्रक्रिया पूरी हो रही है. विरोध के लिए विरोध नहीं होता विरोध युक्तिसंगत होना चाहिए. कहीं भी भ्रष्टाचार की कोई गुंजाइश नहीं होगी. पहले प्रदेश का वसूली गैंग युवाओं को बहकाता था. ट्रांसफर पोस्टिंग में कोई सिफारिश मत कराइएगा. ट्रांसफर भी पोर्टल के जरिए मेरिट बेस होना चाहिए.

Read More – Dearness Allowance Hike: Finance Ministry Issues Order to Implement

">

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!
 
धन्यवाद, लल्लूराम डॉट कॉम के साथ सोशल मीडिया में भी जुड़ें। फेसबुक पर लाइक करें, ट्विटर पर फॉलो करें एवं हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।