Contact Information

Four Corners Multimedia Private Limited Mossnet 40, Sector 1, Shankar Nagar, Raipur, Chhattisgarh - 492007

एक पत्नी ने दिनभर अपने पति की लंबी उमर के लिए करवा चौथ का व्रत रखा. इश्क में चूर महिला ने अपने प्रेमी के साथ मिलकर पति को रास्ते से हटाने के लिए योजना बनाई. करवा चौथ के दिन पति की आरती उतारकर सेलिब्रेशन किया. इसके बाद महिला ने अपने प्रेमी और उनके दोस्तों से पति को किडनैप करवा दिया और 12 घंटे तक उसे प्रताड़ना दी. फिर अपने पति का कत्ल प्रेमी से करवा दिया.

 

बागपत के बिजरोल गांव के वरुण की शादी करीब 11 साल पहले अमीषा उर्फ मनी से हुई थी. करवाचौथ के दिन वरुण के घर अमीषा का प्रेमी नागेंद्र गुर्जर अपने साथियों के साथ आ धमका. करवाचौथ सेलिब्रेशन के बाद नागेंद्र, वरुण और अमीषा के बीच तकरार हुई जिसके बाद अमीषा की सहमति से नागेंद्र गुर्जर वरुण को उठाकर ले गया. मेरठ के खरखोदा इलाके में वरुण को 12 घंटे तक बंधक बनाकर रखा गया. सोमवार दोपहर बाद नागेन्द्र और उसके साथियों ने वरुण की गोली मारकर हत्या कर दी. वरूण की लाश को काजमाबाद गून गांव में नलकूप के पास फेंक दिया गया. यहां नहा रहे बच्चों ने काली स्कॉर्पियो से लाश फेंकते हत्यारोपियों को देखा था.

इसे भी पढ़ें – पत्नी सुहाग को बचाने के लिए रखी थी करवा चौथ का व्रत, शाम होते ही मिली पति की मौत की खबर

बताया जा रहा है कि मेरठ के काजमाबाद गून गांव में नलकूप के पास काले रंग की एक स्कॉर्पियों में कुछ लोग आए और एक लाश को फैंककर चले गये. दिनदहाड़े हुई इस वारदात को नलकूप में नहा रहे कुछ बच्चों ने देखा और फिर पुलिस को खबर कर दी. मौके पर पहुंची पुलिस ने लाश को कब्जे में लेकर कार्रवाई शुरू की और देर शाम तक उसकी शिनाख्त करवा पाई. मालूम पड़ा कि यह लाश बागपत के बिजरौल गांव के वरूण की थी. बागपत में वरूण के अपहरण का केस पिछली रात दर्ज कराया गया था. पुलिस ने तफ्तीश में तेजी दिखाई तो कुछ ही घंटों बाद कत्ल और अवैध संबधों की कहानी सामने आई.

वहीं देर शाम तक वरुण की लाश की शिनाख्त नहीं हो पाई. लेकिन फिर बागपत से एक युवक की अपहरण की सूचना पुलिस को मिली जिसके बाद वरुण के भाई अरुण ने मौके पर पहुंचकर लाश की शिनाख्त की. शिनाख्त होने के बाद वरुण की पत्नी अमीषा से वरुण के बारे में जानकारी की गई. पुलिस की जांच में पता चला कि बीती रात उनके घर पर कुछ लोग आए थे. वरुण की पत्नी से जब सख्ती से पूछताछ की गयी तो उसने पूरे घटनाक्रम का ब्यौरा पुलिस को दिया. अमीषा ने स्वीकार किया कि उसने ही नागेंद्र को वरुण के कत्ल का जिम्मा दिया था. वरूण अमीषा और नागेन्द्र के अवैध संबधों का रोड़ा था. पुलिस ने अमीषा को गिरफ्तार कर लिया है. जबकि वरुण के हत्यारोपी नागेंद्र गुर्जर और उसके साथियों की पुलिस तलाश कर रही है.

Read more – 30-Year-Old Lawyer Shot Dead Over Property Dispute

">
Share: