इलाज के अभाव में जच्चा-बच्चा की हुई मौत, शव देने के एवज में नर्सिंग होम संचालक ने मांगी रकम

बाराबंकी. डिलीवरी होने के बाद इलाज के अभाव में एक प्राइवेट नर्सिंग होम में जच्चा और बच्चे दोनो की मौत हो गई. मौत होने के बाद नर्सिंग होम कर्मचारियों ने नवजात बच्चे को परिजनों को सौप दिया, लेकिन बच्चे की मां की बॉडी देने की एवज में रुपए की मांग कर डाली. इस बात को लेकर नर्सिंग होम में घंटों तक हंगामा चलता रहा. नर्सिंग होम के सामने ड्यूटी कर रहे पुलिस कर्मियों ने लोगों की भीड़ को देखकर मौके पर पंहुची और लोगों को शांत करवाया. वहीं जच्चा व बच्चे की मौत की खबर पाकर स्थानीय प्रभावशाली लोग भी पंहुचे. जिसके बाद नर्सिंग होम संचालक ने दोनों की मौत पर खेद प्रकट करने के साथ ही जितनी रकम ली थी, उसे वापस करने की बात कही तब जाकर लोग शांत हुए.

बताते चलें कि हैदरगढ़ कस्बे के पूरे मितई वार्ड निवासी रामकेवल रावत की पत्नी श्रीमती (25 ) को शुक्रवार की दोपहर प्रसव पीड़ा शुरू हुई, तो रामकेवल अपनी गर्भवती पत्नी को लेकर कस्बे में ही स्थित अग्रवाल हेल्थ केयर के संचालक डा. मोहित अग्रवाल के नर्सिंग होम पहुंचा. वहां डा. की पत्नी डॉक्टर ने रामकेवल से कहा कि तुम्हारी पत्नी की हालत खाफी खराब है. ऑपरेशन करना पड़ेगा. उसकी एवज में नर्सिंग होम ने रामकेवल से डॉक्टर ने 18 हजार रूपए जमा करवा लिए और बताया कि ऑपरेशन के दौरान बच्चे को हम नहीं बचा सके, लेकिन आपकी पत्नी अब खतरे से बाहर है, लेकिन कुछ देर बाद भर्ती उसकी पत्नी की भी मौत हो गई.

इसे भी पढ़ें – किशोरी ने पहनी जींस, दादा हुआ हुआ आग बबूला, पोती की करवा दी हत्या

उसके बाद रामकेवल ने बच्चे का अंतिम संस्कार कर दिया, लेकिन पत्नी का शव नर्सिंग होम में देरशाम तक रखा रहा. वहीं महिला के शव देने की एवज में नर्सिंग होम ने 5 हजार रुपए मांगने और इलाज के अभाव में मौत का परिजनों ने आरोप लगाया. वहीं सूचना मिलने पर पंहुची पुलिस ने भीड़ को शांत करवाया और खबर मिलने पर कस्बे के प्रभावशाली लोग भी पंहुचे. नर्सिंग होम संचालक से बातचीत के बाद नर्सिंग होम संचालक ने पूरा पैसा लौटाने की बात के साथ खेद भी प्रकट किया.

Read more – 39,097 Fresh Infections Reported; Children Can Get Immunized in September, says AIIMS Chief

Related Articles

Back to top button
 
धन्यवाद, लल्लूराम डॉट कॉम के साथ सोशल मीडिया में भी जुड़ें। फेसबुक पर लाइक करें, ट्विटर पर फॉलो करें एवं हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।