Contact Information

Four Corners Multimedia Private Limited Mossnet 40, Sector 1, Shankar Nagar, Raipur, Chhattisgarh - 492007

मुजफ्फरनगर. देश की राजधानी दिल्ली की सीमाओं पर 10 महीने से अधिक समय से किसान केंद्र के नए कृषि कानून का विरोध कर रहे हैं. किसान नेता राकेश टिकैत ने कहा है कि जब तक तीन कृषि कानूनों को रद्द किए जाने और फसलों के लिए न्यूनतम समर्थन मूल्य की कानूनी गारंटी दिए जाने समेत किसानों की सभी मांगें पूरी नहीं कर दी जातीं, तब तक उनका प्रदर्शन जारी रहेगा.

राकेश टिकैत ने उत्तर प्रदेश के शामली जिले में रविवार शाम को संवाददाताओं से कहा कि केंद्र किसानों के एक साल से जारी प्रदर्शन को नजरअंदाज कर रहा है, जिसमें 750 किसानों की मौत हो चुकी है. किसान पिछले साल सितंबर में कृषि कानून लागू किए जाने के बाद से विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं और उन्हें निरस्त किए जाने की मांग कर रहे हैं.

इसे भी पढ़ें – BJP विधायक का किसानों ने किया जोरदार विरोध, दिखाए काले झंडे, जमकर लगे मुर्दाबाद के नारे

टिकैत ने कहा कि तीन कृषि कानून और भारतीय जनता पार्टी किसान विरोधी हैं. उन्होंने दावा किया कि सरकार इस मामले को सुलझाने के लिए वार्ता के लिए तैयार नहीं है. उन्होंने आरोप लगाया कि केंद्र में भाजपा सरकार केवल उद्योगपतियों का समर्थन करती है.

Read more – Maharashtra Holds Statewide Bandh Today Against Lakhimpur Violence

 

">
Share: