बेमौसम बारिश बनी आफत : कच्ची ईंट भीगने से भट्टा व्यवसाय को जबरदस्त नुकसान

उमंग अग्रवाल, कानपुर देहात. कानपुर देहात के भोगनीपुर क्षेत्र में बारिश से भट्टा व्यवसाय को जबरदस्त नुकसान पहुंचा है. कच्ची पानी में भीग कर खराब हो जाने से ईट भट्टा व्यवसायों को करोड़ों रुपए का नुकसान पहुंचा है. भोगनीपुर क्षेत्र की अगर बात की जाए तो यहां पर 100 से अधिक ईट भट्टे संचालित है.

इस समय सभी भट्टो पर कच्ची ईंटों की पथाई चल रही है. कुछ भट्टो की चिमनीओं में आग देने से ईट को पकाने का भी काम शुरू हो गया है. इस बीच दो से दिन-रात रुक-रुक कर हो रही बारिश से भट्टों पर रखी कच्ची ईट पानी में भीग कर खराब हो गई है. जिससे ईट भट्ठा स्वामियों को करोड़ों रुपए का नुकसान पहुंचा है. कानपुर देहात ईट निर्माता समिति के अध्यक्ष अनिल कुमार बंसल ने बताया कि जनपद कानपुर देहात के सभी ईट भट्टों पर कच्ची ईंट की पथाई का काम शुरू हो गया है. भट्ठा स्वामियों को करोड़ों रुपए का नुकसान पहुंचा है. वहीं भट्टा स्वामी आशीष गुलाटी ने बताया कि कच्ची ईट पाथने के लिए सभी भट्टो पर श्रमिक अस्थाई रूप से निवास करते हैं और वहीं पर खाना बनाते हैं उनको भी समस्या हो रही है.

भट्टा स्वामी विपिन यादव ने बताया कि सरकार के द्वारा ईट भट्टा व्यवसाय पर जीएसटी की दरें बढ़ा दिए जाने से भट्टा स्वामी पहले से ही परेशान हैं और कच्ची ईट भीग कर खराब हो जाने दे भट्टा व्यवसाय पर ओर खराब असर पड़ रहा है. अब देखने वाली बात यह है कि सरकार इन उद्योगों के लिए कुछ करती है या नहीं. अगर इन भट्टे वालों को नुकसान हुआ है तो इसकी भरपाई वह रेट महंगा करने से तो पूरी कर सकते हैं, लेकिन इससे आम जीवन पर काफी प्रभाव पड़ेगा.

">

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!