यूपी कैबिनेट बैठक : छाया रहा अयोध्या राम मंदिर, जानिए क्या लिया गया निर्णय

आलोक वर्मा, लखनऊ. कोरोना की दूसरी लहर के बाद लंबे समय बाद लोकभवन में हुई कैबिनेट बैठक में अयोध्या छाया रहा. कैबिनेट में अयोध्या के विकास से जुड़े कई फैसले हुए. कैबिनेट के बाद योगी ने मंत्रिमंडल की बैठक भी ली और उन्हें एजेंडा सौंपा गया.

एक अर्से बाद राजधानी के लोकभवन में मुख्यमंत्री और उनके कैबिनेट मंत्री कैबिनेट बैठक में आमने सामने हुए. पहले से ही माना जा रहा था कि इस बैठक में सरकार चुनावी मोड में होगी. यही हुआ भी. एक दिन पहले दूसरी वजहों से चर्चा में रही अयोध्या इस बार विकास की योजनाओं के चलते चर्चा में रही.

सरकार ने फैसला लिया कि अयोध्या में राम मंदिर के चलते यातायात पर गौर करना होगा. लिहाजा तय किया गया कि संस्कृति विभाग 9 एकड़ जमीन परिवहन विभाग को देगा. जहां पर अंतर्राष्ट्रीय स्तर का बस स्टेशन तैयार किया जायेगा. यह प्रोजेक्ट 400 करोड़ का होगा. इसके लिए पीपीपी मॉडल की भी संभावना तलाशी जाएगी. बैठक में कहा गया कि अयोध्या सुल्तानपुर मार्ग पर बहुत ट्रैफिक है, यह नए एयरपोर्ट को जोड़ता है. लिहाजा यहां 4 लेन का फ्लाईओवर बनना चाहिए. 20.17 करोड़ की लागत से 1.5 किमी लंबे फ्लाईओवर बनाने के लिए भी झंडी दे दी गई.

अयोध्या के भले के बीच प्रयागराज का भी भला हो गया. तय हुआ कि जीटी रोड से एयरपोर्ट के बीच 4 लेन का रेलवे ट्रैक पर फ्लाईओवर बनेगा. इसके लिए 284 करोड़ बजट आएगा, इसको भी हरी झंडी मिल गई. प्रयागराज में टू लेन का एक और फ्लाईओवर कानपुर रोड को जोड़ेगा. जिसके लिए 98 करोड़ रुपए रेलवे देगा. इससे जाम की समस्या से निजात मिलेगी. बुंदेलखंड से कनेक्टिविटी बेहतर होगी. लखनऊ में हैदर केनाल पर 120 एमलडी का एसटीपी बनेगा यह भी तय हो गया है. इसके लिए 297.38 करोड़ का बजट भी पास कर दिया गया है.

इसे भी पढ़ें – राम मंदिर निर्माण में घोटाले का आरोप, भड़के बीजेपी विधायक ने कहा- दिग्विजय मुगलों और अंग्रेजों की नाजायज औलाद

कैबिनेट के बाद योगी मंत्रियों के साथ बैठे. तय हुआ कि जून-जुलाई में प्रभारी मंत्री अपने जिले के हर ब्लॉक में प्रवास करेंगे. हर रोज कम से कम दो ब्लाक जाएंगे. इस दौरान उन्हें सरकारी योजनाओं, सीएससी, पीएचसी, कोटे की दुकान का निरीक्षण करना है, कार्यकर्ताओं की नाराजगी, अगर हो तो, दूर करनी है. 21 जून को योग दिवस पर भी प्रभारी मंत्री अपने जिले में होंगे. 23 जून से 6 जुलाई तक पौधारोपड़ अभियान चलेगा, उस दौरान भी वो अपने जिले में ही होंगे.

इसे भी पढ़ें – BJP की महिला नेता पर करोड़ों की प्रॉपर्टी हड़पने का आरोप, पुलिस ने किया गिरफ्तार

राम जन्मभूमि जमीन घोटाले पर डिप्टी सीएम ने यह कहा

राम जन्मभूमि जमीन घोटाले के मामले में यूपी के डिप्टी सीएम दिनेश शर्मा ने कहा कि विपक्ष अनर्गल प्रलाप के भूमिका में आ गया है. क्योंकि सीएम योगी ने राम मंदिर बनाने के लिए जो अड़चन थी वो खत्म करके विपक्ष का मुद्दा खत्म कर दिया था.

बैठक में कोरोना की तीसरी पर भी हुई चर्चा

सीएम योगी ने मंत्री परिषद की बैठक में मंत्री विधायक और अन्य जनप्रतिनिधियों को जमीन पर उतारने का निर्णय लिया है. दूसरी लहर की तरह फिर यूपी की स्थिति खराब न हो इसके लिए जनप्रतिनिधियों को गांव और प्रभार वाले जिलों में उतारने निर्णय ली है. ताकि वक्त पर कोरोना पर काबू पाया जा सके.

Read more – India Logs 70,421 cases; 3,921 Virus-Linked Deaths Reported

Related Articles

Back to top button
 
धन्यवाद, लल्लूराम डॉट कॉम के साथ सोशल मीडिया में भी जुड़ें। फेसबुक पर लाइक करें, ट्विटर पर फॉलो करें एवं हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।