अमेरिकी कंपनी ने भारत के साथ किया समझौता, कोरोना वैक्सीन की 2 अरब डोज भारत में बनेगी 

दिल्ली। कोरोना वायरस की वैक्सीन बनाने के लिए दुनिया के सभी देश जुटे हैं। अब लोग इस खतरनाक वायरस की वैक्सीन के मिलने का इंतजार कर रहे हैं। इस बीच देशवासियों के लिए अच्छी खबर है।
दरअसल, अमेरिकी कंपनी नोवावैक्स इंक ने सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया के साथ कोरोना वायरस की वैक्सीन को उपलब्ध कराने के लिए समझौते की घोषणा की है। नोवावैक्स इंक ने बताया कि वह भारत की सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया को 2021 में कोरोना की 2 बिलियन खुराक के निर्माण की इजाजत देगा और इसके लिए जरूरी सभी चीजें उपलब्ध कराएगा।

अगस्त में नोवावैक्स ने सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया के साथ करार किया था। नोवावैक्स ने 2 बिलियन खुराकों का उत्पादन करने के लिए टीकों के दुनिया के सबसे बड़े उत्पादक सीरम संस्थान के साथ एक समझौते पर हस्ताक्षर किए हैं। दरअसल, नोवावैक्स  की वैक्सीन का परीक्षण जारी है। इसके अच्छे परिणाम मिल रहे हैं।

दरअसल, कई देश वैक्सीन बनाने वाली कंपनियों से प्राथमिक स्टेज में ही करार कर ले रहे हैं ताकि वैक्सीन बनने के बाद उनको तुरंत वैक्सीन मिल सके। इसी कड़ी में भारतीय कंपनी सीरम इंस्टीट्यूट और अमेरिकी कंपनी के बीच करार हुआ है। हाल ही में जुलाई माह में खुलासा हुआ था कि ब्रिटिश सरकार ने एक कंपनी के साथ कोरोना वैक्सीन की 60 मिलियन खुराक को बनने से पहले ही आरक्षित कर लिया था।
loading...

Related Articles

Back to top button
Close
Close
 
धन्यवाद, लल्लूराम डॉट कॉम के साथ सोशल मीडिया में भी जुड़ें। फेसबुक पर लाइक करें, ट्विटर पर फॉलो करें एवं हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।