whatsapp

देख रहे हैं मंत्री जी…नशे में टल्ली टीचर: स्कूलों में झांकने नहीं आते जिम्मेदार, शिकायतों की अनदेखी, मदहोश पहुंचते हैं शिक्षक, क्या ऐसे संवरेगा बच्चों का भविष्य ?

पुरषोत्तम पात्र, गरियाबंद। जिले के ग्रामीण क्षेत्रों में स्कूलों की गुणवत्ता और संचालन पर समय समय पर सवाल उठते रहा है. हाल ही में ग्रामीण अंचल के एक शिक्षकीय स्कूलो में पदस्थ शिक्षकों का मनचाहा जगह पर तबादला हो या फिर बगैर सहमति के प्रसाशनिक तबादला कर दिए जाने का मामला ठंडा नहीं हुआ है कि अब वायरल हो रहे एक वीडियो ने अफसरों के कार्य शैली पर सवाल खड़ा कर दिया है.

स्कूलों का निरीक्षण भगवान भरोसे
स्कूलों का निरीक्षण भगवान भरोसे है. इसलिए कुछ स्कूलो में नशे में धुत्त होकर मास्टर जी आते हैं. वायरल हो रहे वीडयो और फोटो मैनपुर ब्लॉक के धारनीढोडा प्राथमिक स्कूल का बताया जा रहा है. ग्रामीण विजय कुमार मांझी ने यह वीडियो उपलब्ध कराते हुए बताया कि 6 सितम्बर को साढ़े 11 बजे के बाद ग्राम सरपंच सदनाय बाई, शिक्षा समिति अध्यक्ष अर्जुन पोरते के अलावा अभिभावक और ग्रामीण प्राथमिक शाला पहंचे तो वहां पदस्थ 4 शिक्षकों में से 2 नदारद थे.

देखिए वीडियो-

दोनों शिक्षक गांव के बाहर नशे में धुत्त पड़े थे. स्वयं से खड़े होने के हालत में नहीं थे. इसलिए उनको उठाकर स्कूल तक लाया गया. पंचनामा बनाकर 7 सितम्बर को जिला शिक्षा अधिकारी करमन खटकर के पास मामले की शिकायत की थी.

उन्होंने कार्रवाई करने का आश्वसन देकर बीइओ मैनपुर आरआर धुर्वा को शिकायत फारवर्ड भी किया, लेकिन आज तक कार्रवाई तो दूर मामले की जांच करने कोई नहीं पहुंचा. अपने शिकायत में अभिभावक और ग्रामीणों ने स्पष्ट लिखा है कि 2 साल से लगातार नशा करके शिक्षक स्कूल आते हैं. संकुल समन्वयक से लेकर सभी जवाबदारों को इसकी जानकारी है. बावजूद शैक्षणिक कार्य को भगवान भरोसे छोड़ दिया गया है.

बेपरवाह हुए अफसर
ग्रामीणों ने बताया कि पिछले साल 2 सितंबर को पड़ोसी स्कूल ढोर्रा में ऐसे ही नशे में धुत्त शिक्षक का वीडियो वायरल हुआ था. मामला सामने आया तो दो शिक्षकों को सस्पेंड कर ज़िम्मेदारों ने अपनी जिम्मेदारी खत्म कर ली थी, लेकिन घटना दोबारा न हो उसके लिए मॉनिटरिंग नहीं की गई.

मामले में मैनपुर बीइओ आरआर सिंह ने कहा कि डीईओ से मार्क होकर मुझे इस सम्बंध में कोई पत्र प्राप्त नहीं हुआ है. इस घटना से पहले ही संकुल समन्वयकों के रिपोर्ट पर दो शिक्षकों का वेतन रोक दिया गया है. उक्त वायरल वीडियो का लल्लूराम डॉट कॉम पुष्टि नहीं करता.

इसे भी पढ़ें-

Read more- Health Ministry Deploys an Expert Team to Kerala to Take Stock of Zika Virus

Related Articles

Back to top button