‘द ग्रेट छत्तीसगढ़ रन’ में विवेक ढांढ, अंकित आनंद के साथ प्रशासनिक अधिकारियों ने लगाई दौड़…

रायपुर। रायपुर के धावकों का सबसे बड़ा समुदाय ‘लेट्स रन’ ने अपने सालाना आयोजन ‘द ग्रेट छत्तीसगढ़ रन’ का आयोजन रविवार को किया. बीते छह सालों से हो रहे इस आयोजन में इस साल आयोजकों ने कोविड की वजह से धावकों की संख्या 650 ही रखने का निर्णय लिया था.

‘द ग्रेट छत्तीसगढ़ रन’ मैराथन तीन कैटेगरी 21 किमी, 10 किमी और 6 किमी में आयोजित की गई थी. मैराथन की शुरुआत हुकुम ललित महल से छत्तीसगढ़ रेरा के अध्यक्ष विवेक ढांड, सीएसईबी के प्रमुख अंकित आनंद, सीएसआईडीसी के निदेशक अरुण कुमार पालनस्वामी ने की. इनके अलावा कई प्रशासनिक अधिकारियों ने भी इस दौड़ में हिस्सा लिया. इस दौड़ में श्री नारायणा अस्पताल की निगरानी में कोविड की गाइडलाइन का पूरा पालन किया गया.

ललित महल से शुरू होकर दौड़ अटल नगर तालाब से होते हुए पुनः ललित महल पर समाप्त हुई. धावकों के लिए जगह-जगह हाइड्रेशन पॉइंट बनाए गए थे, जहां पानी, जूस व एनर्जी ड्रीक्स की भी व्यवस्था की गई थी, यह सारी व्यवस्था औषधि घर पहुँच सेवा हेल्थ पोटली के सौजन्य से हुई.

रेस के डायरेक्टर डॉ. विनय तिवारी व को-ऑर्डिनेटर सुनील अग्रवाल ने बताया कि इस रेस में हिस्सा लेने के लिए धमतरी, भिलाई, दुर्ग, राजनांदगांव से भी धावक पहुंचे थे. इस बार होने वाली दौड़ का विषय ‘ट्री ऑफ़ लाइफ’ था, डायरेक्टर डॉ. विनय तिवारी ने बताया आज जब हम महामारी से गुज़र कर निकले है, यहां से फिर से हमारा सफर हमको फिर से बहादुरी से आगे बढ़ना हैं, संघर्ष करना हैं जो की लम्बी दौड़ और जीवन दोनों के ही मायने है.

सुनील अग्रवाल ने बताया इस आयोजन को सफल बनाने में प्रायोजकों की भूमिका महत्वपूर्ण रही, उन्होंने फिरंडे डॉट कॉम, कंसोल (हीरा पाइप्स), टाटा भसीन मोटर्स, हौंडा जी के व्हील्स, की सराहना की, हर प्रतिभागी को वचन डेरी एवं मारुति सेल्स कॉर्परेशन से ऊपहार दिए गए. कार्यक्रम के अंत में अगले साल 13 नवंबर को होने वाली ‘द ग्रेट छत्तीसगढ़ रन’ की  भी घोषणा की गई.

">

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!