लापरवाही : नल खुला रहने से सर्जरी विभाग की ओटी में भरा पानी, तीन घंटे देर से शुरू हुए ऑपरेशन…

रांची। झारखंड का लाइफ लाइन कहे जाने वाला रिम्स अस्पताल के सर्जरी ओटी में शुक्रवार को पानी भर गया .पानी बहते हुए डॉक्टरों के चैंबर तक पहुंच गया, जिससे छह मरीजों का ऑपरेशन टाल दिया गया. शुक्रवार की सुबह ओटी का ताला खोला गया तो पूरे ओटी में पानी भरा हुआ था. ओटी के साथ-साथ स्टोर, सिस्टर रूम, डॉक्टर्स रूम समेत पूरे कॉरिडोर में काफी पानी जमा था.

ओटी सिस्टर इंचार्ज ने इसकी जानकारी अधीक्षक डॉ विवेक कश्यप व सफाई एजेंसी को करायी. अधीक्षक ने सफाई कर्मचारी को तत्काल ओटी को साफ करने का आदेश दिया, लेकिन सफाई में ढ़ाई घंटे का समय लगा. ऑपरेशन थियेटर 12 बजे पूरी तरह से तैयार हुआ.  इसके बाद मरीजों को ओटी में लाया गया.

शुक्रवार को एचओडी डॉ आरजी बाखला की यूनिट में छह, डॉ विनय प्रताप की यूनिट में 10 व डॉ मृत्युंजय सरावगी की यूनिट में आठ मरीजों के ऑपरेशन किए जाने थे। लेकिन पानी भर जाने के कारण विलंब से ऑपरेशन शुरू होने की वजह से डॉ विनय प्रताप की यूनिट के तीन, डॉ आरजी बाखला यूनिट के दो और डॉ मृत्युंजय सरावगी की यूनिट के एक मरीजों का ऑपरेशन नहीं किया जा सका.

पता चला कि ओटी कांप्लेक्स का एक नल पूरी रात खुला रह गया था. कारण यह था कि गुरुवार को ओटी में पानी नहीं आ रहा था, जिसके कारण नल को किसी ने खुला ही छोड़ दिया था. ओटी बंद करने के समय किसी ने उसकी जांच नहीं कि, जिसके कारण पूरी रात पानी बहता रहा और पूरे ओटी में पानी जमा हो गया. बाद में सफाईकर्मी को पानी हटाने के लिए लगाया गया. लगभग ढाई घंटे बाद ओटी कांप्लेक्स से पानी साफ करने के बाद ऑपरेशन शुरू हो सका.

 

Advertisement
Back to top button
Close
धन्यवाद, लल्लूराम डॉट कॉम के साथ सोशल मीडिया में भी जुड़ें। फेसबुक पर लाइक करें, ट्विटर पर फॉलो करें एवं हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।