जल संसाधन विभाग ने बगैर काम किये ठेकेदार और निजी कंपनियों को दिये  800 करोड़ रुपये एडवांस, EOW ने चीफ इंजीनियर सहित 4 अधिकारियों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज

राकेश चतुर्वेदी, भोपाल। जल संसाधन विभाग के 3333 करोड़ रुपए के टेंडर में गड़बड़ी के मामले में EOW ने प्राथमिकी दर्ज कर जांच शुरु कर दी है। आरोप है कि प्रोजेक्ट्स में बिना काम हुए 800 करोड़ रुपए अधिकारियों ने निजी कंपनियों, ठेकेदारों को अनधिकृत एडवांस भुगतान कर दिया। मामले में EOW ने जल संसाधन विभाग के एक चीफ इंजीनियर सहित चार अधिकारियों के खिलाफ मामला दर्ज किया है।

Close Button

इसे भी पढ़ें ः नकली बीज मामले में बड़ी कार्रवाई, 5 प्रमाणीकरण अधिकारी निलंबित

जानकारी के मुताबिक जल संसाधन विभाग ने निजी कंपनियों, ठेकेदार को अगस्त 2018 से फरवरी 2019 के बीच सात सिंचाई प्रोजेक्ट में बांध, हाई प्रेशर अंडर ग्राउंड पाइप लाइन, नहर निर्माण के लिए 3333 करोड़ के टेंडर दिए गए थे। लेकिन नियमों को शिथिल कर 800 करोड़ का एडवांस भुगतान कर दिया गया।

इसे भी पढ़ें ः आरटीआई खुलासा : मोदी सरकार ने 95 देशों को दिये 6 करोड़ 64 लाख कोरोना वैक्सीन, इन्हें बांटा फ्री

हमारे whatsapp ग्रुप से जुड़ने के लिए इस लिंक पर क्लिक करें

Related Articles

Back to top button
 
धन्यवाद, लल्लूराम डॉट कॉम के साथ सोशल मीडिया में भी जुड़ें। फेसबुक पर लाइक करें, ट्विटर पर फॉलो करें एवं हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।