राम मंदिर निर्माण शुरू होने से राजीव गांधी का सपना अब जाकर साकार हुआ- विकास उपाध्याय

रायपुर। विधायक व शासन में संसदीय सचिव विकास उपाध्याय ने अयोध्या में राम मंदिर निर्माण को लेकर कहा कि राम मंदिर के निर्माण का सही मायने में सपना कांग्रेस व पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी ने ही देखा था. 1986 में इसका शिलान्यास कर शुरुआत भी कर दी थी. इसके बाद राजीव गाँधी के हत्या हो जाने का फायदा उठा कर भाजपा आज तक राम मंदिर निर्माण को अपना वोट बैंक का ही एक मात्र माध्यम बना कर राजनीति करते रही.

Close Button

विकास उपाध्याय ने कहा उच्चत्तम न्यायालय राम मंदिर निर्माण को लेकर निर्णय नहीं देती तो भाजपा आगे भी इस मुद्दे को अपने राजनीतिक फायदे के लिए ही उपयोग करते रहती. विकास ने कहा अयोध्या में राम मंदिर का निर्माण यदि आज होने जा रहा है, तो कांग्रेस पार्टी इसके लिये पहला हकदार है. ये बात और है कि कांग्रेस ने अपने राजनीतिक फायदे के लिए राम मंदिर को कभी मुद्दा नहीं बनाया, जबकि भाजपा नेताओं की जुबानी से भी ये बात पूरे सोशल मीडिया में सुनी जा सकती है कि राम मंदिर निर्माण के पहले प्रणेता व असली हीरो राजीव गाँधी ही थे.

विकास उपाध्याय ने कहा कि पहली बार 1986 में जब फ़ैज़ाबाद के ज़िला जज ने विवादित रामजन्मभूमि-बाबरी मस्जिद को लेकर कोर्ट से फ़ैसला सुनाया तो राजीव गांधी ने ही इस विवादित स्थल का ताला खुलवाया था और इसके बाद राम मंदिर बनाये जाने शिलान्यास भी किया. आज अयोध्या में इसका निर्माण करने पुनः यदि शिलान्यास हो रहा है तो एक तरह से उच्चतम न्यायालय ने राम मंदिर को लेकर अब राजनीति न करने की सिख दी है. विकास उपाध्याय कहते हैं कांग्रेस पार्टी चूंकि अयोध्या में राम मंदिर बनाये जाने पहली बार राजीव गाँधी के हाथों आधारशिला रखी थी तो हम सुप्रीम कोर्ट के इस आदेश का पालन किये जाने का जश्न मना रहे हैं. विकास उपाध्याय ने बताया कि राजीव गाँधी का राम मंदिर का निर्माण का सपना अब जाकर पूर्ण हुआ है तो पूरे शहर को उनके द्वारा बैनर पोस्टर से सजाया जा रहा है और 5 अगस्त को इसे लेकर विशेष तरह का कार्यक्रम भी किया जाएगा.

Related Articles

Back to top button
Close
Close
 
धन्यवाद, लल्लूराम डॉट कॉम के साथ सोशल मीडिया में भी जुड़ें। फेसबुक पर लाइक करें, ट्विटर पर फॉलो करें एवं हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।