EXCLUSIVE : यूथ कांग्रेस में अध्यक्ष के खिलाफ बगावत, राहुल गांधी से मिलकर तीनों उपाध्यक्षों ने की पाढ़ी को हटाने की मांग

रायपुर. यूथ कांग्रेस का नये प्रदेश अध्यक्ष पूर्णचंद पाढ़ी उर्फ कोको पाढ़ी के खिलाफ बगावत के हालात हो गए हैं. प्रदेश के यूथ कांग्रेस के सभी दूसरे बड़े नेताओं ने कोको पाढ़ी के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है. यूथ कांग्रेस के एक कार्यकारी अध्यक्ष और तीन उपाध्यक्षों ने दिल्ली में शिकायत करने गए थे.  इनमें से प्रदेश के तीनों उपाध्यक्षों ने  मंगलवार को कांग्रेस के मौजूदा राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी से मिलकर शिकायत की है और मांग की है कि इस नियुक्ति को रद्द किया जाए.

शिकायत में पूर्णचंद पाढ़ी द्वारा विधानसभा चुनाव से पहले राहुल गांधी के खिलाफ की गई विवादित टिप्पणी और चुनावी प्रक्रिया का पालन न करने का हवाला दिया गया है. लल्लूराम डॉट कॉम के पास वो चिट्ठी है जो राहुल गांधी को दी गई है.

इस चिट्ठी में कार्यकारी अध्यक्ष महेंद्र गंगोत्री, उपाध्यक्ष चाकेश्वर गड़पाले, सजमन बाघ और रेणु मिश्रा के हस्ताक्षर हैं.

इस मामले में जब हमने यूथ कांग्रेस के उपाध्यक्ष चाकेश्वर गड़पाले से बात की तो उन्होंने शिकायत करने की बात की पुष्टि करते हुए कहा कि इस मसले पर राहुल गांधी से मंगलवार मुलाकात हुई. राहुल गांधी ने उनकी बातों को सुना है. इन तीनों की दलील है कि उमेश पटेल की जगह अगर किसी को प्रदेश अध्यक्ष बनाना था तो राहुल गांधी के सिस्टम यानि चुनकर आए किसी पदाधिकारी को बनाना था.

गौरतलब है कि कोको पाढ़ी से पहले उमेश पटेल चुनाव जीतकर प्रदेश अध्यक्ष बने थे. उनके मंत्री बनने के बाद कोको पाढ़ी की नियुक्ति अखिल भारतीय यूथ कांग्रेस के प्रभारी कृष्णा अल्लावरु ने की है. गड़पाले ने कहा कि उन्होंने पार्टी के अंदर अपनी बात रखी है. उम्मीद है कि न्याय होगा.

गड़पाले ने कहा कि कार्यकारी अध्यक्ष महेंद्र गंगोत्री को कुछ काम आ गया था जिसके चलते उन्हें जाना पड़ा. महेंद्र गंगोत्री एक-दो दिन में वापिस आएँगे और फिर सभी इसी मामले को लेकर प्रभारी कृष्णा अल्लावरु से मिलेंगे.

गौरतलब है कि कोको पाढ़ी को विधानसभा चुनाव से पहले उमेश पटेल की जिम्मेदारियां को देखते हुए कार्यकारी अध्यक्ष नियुक्त किया गया था. वे लंबे अंतराल के बाद नियुक्त किए गए पहले पदाधिकारी थे. उनके साथ महेंद्र गंगोत्री को भी कार्यकारी अध्यक्ष बनाया गया था. इसके बाद मई के आखिरी में कोको पाढ़ी को प्रदेश अध्यक्ष बना दिया गया. इस नियुक्ति के फौरन बाद मेल करके दूसरे पदाधिकारियों ने आपत्ति जताई थी.

विज्ञापन

धन्यवाद, लल्लूराम डॉट कॉम के साथ सोशल मीडिया में भी जुड़ें। फेसबुक पर लाइक करें, ट्विटर पर फॉलो करें एवं हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।