छत्तीसगढ़ में रोजगार पर छिड़ी सियासी रार: BJYM का सवाल, ‘जिन्हें पकौड़ा में रोजगार नहीं दिखा’, वे अब गोबर बिनवा रहे’, युकां का जवाब, ‘इंजीनियर-डाॅक्टर के लिए नहीं, किसानों के लिए है ये योजना’ 

युवा मोर्चा अध्यक्ष विजय शर्मा ने बेरोजगार युवाओं को रोजगार नहीं मिलने पर उठाया सवाल, युकां अध्यक्ष का जवाबी पलटवार

रायपुर- बेरोजगारों को रोजगार देने का वादा कर सत्ता में आई कांग्रेस पर बीजेपी युवा मोर्चा ने तंज कसा है. युवा मोर्चा ने सरकार के दावों पर सवाल उठाते हुए कहा है कि जिन्हें पकौड़ा में रोजगार नजर नहीं आ रहा था, वे अब गोबर बिनवाकर सालभर रोजगार मुहैया कराने की बातें कह रहे हैं. युवा मोर्चा के इस सवाल पर युवक कांग्रेस ने पलटवार कर कहा है कि गोबर खरीदी किसानों के लिए बनाई गई योजना है. पढ़े-लिखे इंजीनियर-डाक्टरों से पकौड़ा बिकवाने की सोच सिर्फ बीजेपी की हो सकती है.

युवा मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष विजय शर्मा ने राज्य सरकार की आर्थिक स्थिति बेहतर है तो फिर सरकार बार-बार कर्ज क्यों ले रही है ? आखिर क्यों 6 फीसदी कर्ज की सीमा बढ़ाने की मांग की जाती है? उन्होंने कहा कि सरकार ने 46000 गौ पालकों को 1करोड़ 67 लाख का भुगतान किया है.15 दिन में प्रति गौ पालकों को 350 रुपये मतलब प्रतिदिन 23 रुपये देकर सरकार अपनी पीठ धपथपा रही है. जिन लोगों को पकौड़ा बेचने की सलाह में रोज़गार नज़र नहीं आ रहा था, वे अब प्रदेश की तरुणाई को गोबर बिनवाकर सालभर रोज़गार मुहैया कराने की बातें कर रहे हैं!
युवक कांग्रेस पर निशाना साधते हुए विजय शर्मा ने पूछा कि क्या वे लोग गोबर बीनने के लिए झंवा के इंतज़ाम में जुटे हुए हैं? उन्होंने कहा कि रोज़गार के अवसरों की बेहतरी का दावा करने वाली सरकार झूठे आंकड़ों का खेल रच रही है. यदि सरकार का दावा है कि छत्तीसगढ़ में बेरोज़गारी का प्रतिशत 13 से घटकर 09 फीसदी रह गया है, तो फिर यह भी बताना चाहिए कि सत्ता की दहलीज पर बेरोजगार युवक क्यों आत्महत्या करने पर विवश हुआ? पुलिस विभाग और शिक्षाकर्मियों की भर्ती रोक कर बैठी सरकार प्रदेश के युवा व शिक्षित बेरोज़गारों के साथ आख़िर कब तक मज़ाक करती रहेगी.
भाजयुमो प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि कोरोना संक्रमण की रोकथाम हो या फिर प्रदेश के विकास व लोगों की कल्याणकारी योजनाओं का मसला हो, सरकार हमेशा पैसों का रोना रोती रहती है जबकि सियासी नौटंकियों पर वह प्रदेश का खजाना लुटाने में ज़रा भी नहीं हिचकिचाती.

गोबर खरीदी योजना विशुद्ध रूप से किसानों की बेहतरी के लिए बनाई गई- युवक कांग्रेस

इधर भाजयुमो के बयान पर युवक कांग्रेस ने पलटवार किया है. युकां के प्रदेश अध्यक्ष कोको पाढ़ी ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी ने जब पकौड़े से रोजगार की बात कही थी, तब उनका यह बयान हर किसी के लिए था, चाहे वह इंजीनियर हो या एमबीबीएस, गोबर से रोजगार विशुद्ध रूप से किसानों से जुड़ा मामला है. गोबर के जरिए किसानों की आय बढ़ाने के लिए सरकार ने यह फैसला लिया है. किसान आज खुश है कि गोबर की कीमत उन्हें मिल रही है. उच्च शिक्षा हासिल करने वाले लोगों को पकौड़ा के जरिए रोजगार देने वालों की यही सोच है. बेरोजगारी दूर करनी की उनकी परिभाषा यही है कि मां-बाप बच्चों को बेहतर शिक्षा दें और रोजगार देने के दावे वाली सरकार उनसे पकौड़ा बेचवाए. पाढ़ी ने कहा कि भूपेश सरकार ने गोबर खरीदी की योजना विशुद्ध रूप से किसानों को ध्यान में रखकर बनाई है. किसान आज इस योजना का लाभ उठा रहे हैं. किसान की आर्थिक प्रगति हो रही है.
loading...

Related Articles

Back to top button
Close
Close
 
धन्यवाद, लल्लूराम डॉट कॉम के साथ सोशल मीडिया में भी जुड़ें। फेसबुक पर लाइक करें, ट्विटर पर फॉलो करें एवं हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।