अंतागढ़ टेपकांड : वॉयस सेंपल देने के बाद मंतूराम पवार ने स्वीकार किया टेप में उन्हीं की आवाज, बताया जोगी और रमन से जान का खतरा, कहा- बढ़ाई जाए सुरक्षा

रायपुर। अंतागढ़ टेपकांड मामले में मुख्य आरोपी मंतूराम पवार ने स्वीकार कर लिया है कि जो टेप सामने आया है, उसमें उन्हीं की आवाज और नेताओं से बातचीत है. मंतूराम ने दोनों पूर्व सीएम रमन सिंह और अजीत जोगी से जान का खतरा बताते हुए सुरक्षा बढ़ाने की मांग की है.

Close Button

मंतूराम ने कहा कि टेप में मेरी ही आवाज है अजीत जोगी से मेरी जो बातचीत हुई है वही आवाज है टेप में. मैं चाहता हूँ टेप में और जिनकी भी आवाज है उनका भी वाइस सेम्पल लिया जाए ताकि सच्चाई सामने आए. चुनाव से नाम वापस लेने के लिए मुझ पर दबाव डाला गया था. मुझे न्यायपालिका पर भरोसा है. मुझे जान का खतरा है, अगर मुझे कुछ होता है तो इसके अन्य आरोपी इसके लिए जिम्मेदार होंगे.

उन्होंने दोनों पूर्व सीएम रमन सिंह और अजीत जोगी पर अपनी जान का खतरा होने का गंभीर आरोप लगाया है. उन्होंने कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह और अजीत जोगी से मुझे जान का खतरा है. मुझे या मेरे परिवार को कुछ भी होता है तो इसके लिए दोनो होने जिम्मेदार होंगे. मुख्यमंत्री से मांग करता हूं कि मेरी सुरक्षा बढ़ाई जाए.

आपको बता दें मंतूराम पवार आज अपने वायस का सेंपल देने जांच एजेंसी एसआईटी के सामने उपस्थित हुए थे. जहां एसआईटी के अधिकारी उन्हें वॉयस सेंपल देने के लिए मेकाहारा अस्पताल ले गए थे. वॉयस सेंपल देने के बाद बाहर निकले मंतुराम ने मीडिया से बातचीत करते हुए ये बातें कही है.

Related Articles

Back to top button
Close
Close
 
धन्यवाद, लल्लूराम डॉट कॉम के साथ सोशल मीडिया में भी जुड़ें। फेसबुक पर लाइक करें, ट्विटर पर फॉलो करें एवं हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।