बड़ी खबर : नकली रेमडेसिविर इंजेक्शन की फैक्ट्री के तार एमपी के इन शहरों से जुड़े, दवा व्यापारी को गिरफ्तार कर ले गई गुजरात पुलिस, जबलपुर में कई दुकानों में छापा

कुमार इंदर, जबलपुर। गुजरात में नकली रेमडेसिविर इंजेक्शन बनाने के कारोबार के तार इंदौर के बाद अब जबलपुर से भी जुड़ गए हैं। जबलपुर में नकली इंजेक्शन बेचने वाले सपन जैन को गुजरात पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। बाजार में सैकड़ों नकली इंजेक्शन खपाए जाने का पता चलते ही अधिकारियों के पांव तले जमीन खिसक गई।

शनिवार सुबह पुलिस और जिला प्रशासन की टीम ने दवा बाजार में धावा बोल दिया और 10 से ज्यादा दुकानों के स्टॉक की जांच की। सूत्रों के मुताबिक आरोपी सपन जैन ने 200 से ज्यादा नकली रेमडेसिविर इंजेक्शन की बाजार में सप्लाई की है।

आरोपी – सपन जैन

आपको बता दें गुजरात के सूरत में नक़ली इंजेक्शन बनाने की फ़ैक्ट्री पकड़ी गई थी। सूरत के एक गाँव में स्थित इस फैक्ट्री में नमक और ग्लूकोज मिलाकर नकली रेमडेसिविर इंजेक्शन बनाए जा रहे थे। मामले का खुलासा होने के बाद गुजरात पुलिस मध्यप्रदेश पहुंची थी और इंदौर से आरोपी को गिरफ्तार किया था, इसके साथ ही जबलपुर से सपन जैन नाम के आरोपी को गिरफ्तार किया गया है।

जानकारी के मुताबिक आरोपी सपन जैन दवा कारोबारी है। आरोपी ने अपने फेसबुक अकाउंट में खुद को फार्मा कंपनी का डायरेक्टर बताया है। इसके साथ ही आरोपी की दवा बाजार 4-5 दुकानें होने का भी पता चला है।

इस मामले में सवाल यह उठता है कि गुजरात की फैक्ट्री में बनाए गए नकली रेमडेसिविर के इंजेक्शन केवल इंदौर और जबलपुर बस में खपाए गए थे या फिर मध्यप्रदेश के और भी शहरों के साथ क्या दूसरे राज्य भी इनकी जद में थे।

 

Related Articles

Back to top button
 
धन्यवाद, लल्लूराम डॉट कॉम के साथ सोशल मीडिया में भी जुड़ें। फेसबुक पर लाइक करें, ट्विटर पर फॉलो करें एवं हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।