राज्यपाल के आश्वासन के बाद सांसद विजय बघेल ने तोड़ा आमरण अनशन, रमन सिंह ने खिलाई खिचड़ी

चंद्रकांत देवांगन,दुर्ग। छत्तीसगढ़ के दुर्ग लोकसभा से बीजेपी सांसद विजय बघेल ने आज 5 दिन बाद खिचड़ी खाकर अपना आमरण अनशन समाप्त कर दिया. पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह ने कार्यकर्ताओं से समर्थन लेकर उन्हें खिचड़ी खिलाकर अनशन खत्म कराया. रमन सिंह ने भूपेश सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि ये सरकार दिल्ली में बैठे कांग्रेस के आलाकमान के लिए एटीएम है. शराब के जरिए हर महीने का पैसा दिल्ली भेजती है.

Close Button

इस दौरान रमन सिंह के अलावा राज्यसभा सांसद रामविचार नेताम, पूर्व मंत्री बृजमोहन अग्रवाल, प्रेमप्रकाश पांडे, रामशिला साहू, लाभचंद बाफना, विधायक विद्यारतन भसीन, नारायण चंदेल, तमाम भाजपा के दिग्गज नेता आज पाटन के मंडी प्रांगण पहुंचे थे, जहाँ उन्होंने कार्यकर्ताओं की हामी लेकर सांसद विजय बघेल से अनशन तोड़ने को लेकर आग्रह किया.

राज्यपाल के आश्वासन के बाद खत्म हुआ अनशन

डॉक्टर रमन सिंह ने सभा को संबोधित करते हुए कहा कि विजय बघेल कार्यकर्ताओं की लड़ाई लड़ रहे है और प्रदेश सरकार ने जिस तरह झूठे मामले में कार्यकर्ताओं को फंसाया है, उसकी शिकायत उन्होंने अपने पार्टी के नेताओं के साथ मिलकर राज्यपाल से की है. जिस पर राज्यपाल अनुसुईया उइके ने भरोसा दिलाते हुए कहा कि इस मामले की रिपोर्ट गृह मंत्रालय से मंगाकर 3 दिनों में न्यायसंगत कार्रवाई की जाएगी. राज्यपाल से आश्वासन मिलने के बाद सांसद विजय बघेल अपने अनशन को तोड़ने के लिए राजी हुए.

सरकार दिल्ली आलाकमान का एटीएम मशीन

उन्होंने प्रदेश सरकार पर कई आरोप लगाते हुए कहा कि सरकार से सत्ता सम्हल नहीं रही है. लगातार अपराध के मामले बढ़ते जा रहे है. ये सरकार दिल्ली में बैठे कांग्रेस के आलाकमान के लिए एटीएम मशीन है और शराब के जरिये महीने का पैसा वहां भेजती है. प्रदेश में लगातार अपराध बढ़ रहा है. कानून व्यवस्था बिगड़ती जा रही है और इस बात का विरोध करने पर भाजपा के लोगों को टारगेट कर झूठे आरोप में जेल भेजा जाता है. उन्होंने मंच से सरकार को चुनौती देते हुए कहा कि अभी तो केवल 11 कार्यकर्ताओं पर ही अपराध दर्ज हुए है, अगर जरूरत पड़ी तो सरकार के अन्याय के खिलाफ भाजपा के सैकड़ों हजारों कार्यकर्ता जेल जाने को तैयार है.

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!
 
धन्यवाद, लल्लूराम डॉट कॉम के साथ सोशल मीडिया में भी जुड़ें। फेसबुक पर लाइक करें, ट्विटर पर फॉलो करें एवं हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।