BREAKING- कोरोना संकट से निपटने छत्तीसगढ़ के अधिकारी-कर्मचारियों की सैलरी से नहीं होगी अनिवार्य कटौती, CM भूपेश ने दिए निर्देश

कई राज्य सरकारों ने कर्मचारियों के वेतन से कोरोना संकट के लिए अनिवार्य कटौती के आदेश किए हैं जारी, स्वेच्छा से मुख्यमंत्री सहायता कोष में आर्थिक योगदान दे सकेंगे अधिकारी-कर्मचारी

रायपुर- कोरोना संकट और लाॅकडाउन के दौरान छत्तीसगढ़ सरकार के अधिकारी-कर्मचारियों के वेतन से किसी प्रकार की कटौती नहीं होगी. मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने इसके निर्देश जारी किया हैं. बता दें कि कई राज्य सरकारों ने अपने कर्मचारियों के वेतन से कोरोनो संकट से निपटने के लिए अनिवार्य कटौती के आदेश दिए हैं. छत्तीसगढ़ में भी सरकारी कर्मचारियों के भीतर इस बात को लेकर संशय की स्थिति थी कि क्या यहां भी उनकी सैलरी से कटौती की जाएगी?

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा है कि राज्य शासन के अधिकारी-कर्मचारी स्वेच्छा से संकट की इस घड़ी में मुख्यमंत्री सहायता कोष में अपना आर्थिक योगदान कर सकते हैं. छत्तीसगढ़ शासन ने राज्य के सभी निजी औद्योगिक और व्यापारिक संस्थानों से भी यह कहा है कि वे लाॅकडाउन के दौरान अपने कर्मियों का वेतन नहीं काटे. यदि कोई कर्मचारी स्वेच्छा से आर्थिक योगदान करना चाहे तो कर सकता है.

उल्लेखनीय है कि देश के कतिपय राज्यों में वहां की सरकार ने कोरोना संकट और लाॅकडाउन के लिए कर्मचारियों के वेतन से एक माह तक के वेतन और रैंकवार अनिवार्य कटौती के आदेश जारी किए हैं वहीं छत्तीसगढ़ सरकार ने निर्णय लिया है इसके लिए राज्य सरकार के अधिकारी-कर्मचारियों के वेतन से किसी भी प्रकार की कटौती नहीं होगी.

Related Articles

Back to top button
Close
Close
 
धन्यवाद, लल्लूराम डॉट कॉम के साथ सोशल मीडिया में भी जुड़ें। फेसबुक पर लाइक करें, ट्विटर पर फॉलो करें एवं हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।