छत्तीसगढ़: PM के सवाल का कलेक्टर नहीं दे सके जवाब, मोदी ने लगाई क्लास, देखें VIDEO

रायपुर। कोरोना वायरस से देश का बुरा हाल है. कोरोना की स्थिति जानने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज छत्तीसगढ़ के कलेक्टर्स की वर्चुअल बैठक ली. इस बैठक में पीएम मोदी ने जांजगीर कलेक्टर यशवंत कुमार से उनके जिले की कुछ जानकारी पूछी, तो कलेक्टर उनके सवालों का जवाब नहीं दे सके. फिर होना क्या था, पीएम ने कलेक्टर साहब की क्लास लगा दी. उन्हें नसीहत भी दी.

Close Button
  • प्रधानमंत्री नरद्र मादी ने जांजगीर कलेक्टर यशवंत कुमार से पूछा कि इस वक्त आपके जिले में कितने गांव हैं ? 
  • कलेक्टर ने कहा कि जिले में करीब 1400 गांव है.
  • पीएम ने पूछा कि कितने गांव हैं, जहां एक भी कोरोना मरीज नहीं होंगे ?
  • कलेक्टर साहब ने कहा कि इसकी जानकारी तो अभी नहीं है, लेकिन काफी ऐसे गांव हैं, जहां कोरोना मरीज नहीं है.

इसके बाद प्रधानमंत्री मोदी ने कलेक्टर यशवंत कुमार को नसीहत दी. मोदी ने कहा कि गांवों को कोरोना से मुक्त करने की प्लानिंग करनी चाहिए. हमारे गांव में कितने गांव है, जिसमें से कितने गांव अभी भी कोरोना से मुक्त हैं. इस संख्या में और कैसे बढ़ाया जा सकता है. उन्होंने कहा कि कोरोना मुक्त गांवों की संख्या कैसे बढ़े, इस पर ध्यान देना चाहिए.

इस दौरान कलेक्टर यशवंत ने कई मर्तबा बोलने की कोशिश की, लेकिन बोल नहीं सके. मोदी ने कहा कि गांव को कोरोना मुक्त कैसे किया जा सकता है. इसका डाटाबेस तैयार करना चाहिए. जिससे आस-पास के युवा भी गांव को कोरोना मुक्त करने बल देंगे. इससे धीरे-धीरे सभी गांव कोरोना मुक्त हो जाएंगे. इस तरह मोदी ने कलेक्टर को आगे किस तरह काम करना है इसकी जानकारी दी.

जांजगीर-चांपा जिले की स्थापना 25 मई 1998 को हुई थी. जांजगीर जिला पंचायत के अधिकारियों की मानें, तो जिले में 657 पंचायत पंचायत है. जबकि 890 गांव हैं. जांजगीर छत्तीसगढ़ राज्य के मध्य स्थित होने के कारण इसे छत्तीसगढ़ राज्य के हृदय के रूप में माना जाता है.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश के 11 राज्यों के 60 जिलों में कोरोना की वर्तमान स्थिति की समीक्षा के लिए बैठक आयोजित की थी. जब छत्तीसगढ़ की बारी आई, तो मुख्यमंत्री भूपेश बघेल भी शामिल हुए. इस बैठक में छत्तीसगढ़ के बलौदाबाजार-भाटापारा, रायगढ़, जांजगीर-चांपा, कोरबा और बिलासपुर जिलों के कलेक्टर जुड़े. इसके अलावा मुख्य सचिव अमिताभ जैन, मुख्यमंत्री के अपर मुख्य सचिव सुब्रत साहू, स्वास्थ्य विभाग के प्रमुख सचिव डॉ. आलोक शुक्ला और मुख्यमंत्री के सचिव सिद्धार्थ कोमल परदेशी भी मौजूद रहे.

जांजगीर-चांपा के कलेक्टर यशवंत कुमार ने प्रधानमंत्री को जिले में कोरोना संक्रमण की मौजूदा स्थिति, बचाव और कोविड प्रबंधन पर जानकारी दी. Lalluram.com से बातचीत में कलेक्टर यशवंत कुमार ने कहा कि उन्होंने किसी तरह की गलत जानकारी प्रधानमंत्री को नहीं दी है. उन्हें वस्तुस्थिति से अवगत कराया है. उन्होंने बताया कि प्रधानमंत्री ने कोविड-19 के कंट्रोल के लिए किए जा रहे तमाम उपायों की विस्तृत जानकारी ली. जिले में चल रहे प्रयासों की सराहना की.

read more- Corona Horror: US Administration rejects India’s plea to export vaccine’s raw material

Related Articles

Back to top button
 
धन्यवाद, लल्लूराम डॉट कॉम के साथ सोशल मीडिया में भी जुड़ें। फेसबुक पर लाइक करें, ट्विटर पर फॉलो करें एवं हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।