मंत्री टीएस सिंहदेव ने क्यों कहा – मैं शर्मिंदा हूं, पर अटल हूं

बेरोजगार युवाओं की पीड़ा से दुखी है सिंहदेव।

रायपुर। छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर में सीएम हाउस के सामने सोमवार को हरदेव सिन्हा नाम के व्यक्ति ने आत्महाद की कोशिश की थी. इस घटना के बाद पंचायत मंत्री टीएस सिंहदेव ने एक मार्मिक ट्वीट करते हुए बड़ी बात कही है. उन्होंने कहा कि बेरोजगार युवाओं की पीड़ा से मैं बहुत दुखी और शर्मिंदा हूं.

Close Button

पंचायत मंत्री टीएस सिंहदेव ने ट्वीट करते हुए कहा कि सभी बेरोज़गार शिक्षा कर्मियों, विद्या मितान, प्रेरकों और अन्य युवाओं की पीड़ा से मैं बहुत दुखी और शर्मिंदा हूँ. जन घोषणा पत्र के माध्यम से जो वायदा आपको किया था, मैं उस पर अटल हूं. यही विश्वास दिला रहा हूँ कि सरकार प्रयास कर रही है. हम आपके साथ हैं और साथ रहेंगे.

दरअसल सरकार बनने से पहले ‘जन घोषणा पत्र’ बनाने में नेता प्रतिपक्ष रहे टीएस सिंहदेव की अहम भूमिका थी. घोषणा पत्र में सभी के लिए फूड फॉर ऑल, हेल्थ फॉर ऑल सहित शिक्षाकर्मियों और युवाओं के लिए भी बहुत कुछ करने का वादा किया गया था. इस घोषणा पत्र को तैयार करने में करीब 1 लाख लोगों से राय ली गई थी. बेरोजगार युवाओं को एक साल में नौकरी नहीं मिलने पर 2500 रुपये के स्टाइपेंड देने की बात कांग्रेस ने अपने घोषणा पत्र में किया था. इसके अलावा और कई वादे किए थे, जिनमें से कई वादे पूरे भी किए गए हैं.

बता दें कि मुख्यमंत्री निवास के सामने 29 जून को धमतरी निवासी हरदेव सिन्हा ने आत्महत्या का प्रयास किया था. वो करीब 50 फीसदी झुलस चुका है. निजी अस्पताल में अभी भी उसका इलाज जारी है. जिसके बाद से विपक्ष बेरोजगारी को लेकर सरकार को घेरती हुई नजर आ रही है. बीजेपी ने राज्य सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि 10 लाख युवाओं को नौकरी और बेरोज़गार युवाओं को बेरोज़गारी भत्ता देने का प्रपंच रच कर सत्ता में आई सरकार ने युवाओं को ठगा है, उनकी भावनाओं से खिलवाड़ किया है.

Related Articles

Back to top button
Close
Close
 
धन्यवाद, लल्लूराम डॉट कॉम के साथ सोशल मीडिया में भी जुड़ें। फेसबुक पर लाइक करें, ट्विटर पर फॉलो करें एवं हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।