Contact Information

Four Corners Multimedia Private Limited Mossnet 40, Sector 1, Shankar Nagar, Raipur, Chhattisgarh - 492007

अजय शर्मा,भोपाल। मध्यप्रदेश के भिंड जिले में जहरीली शराब पीने से 4 युवकों की मौत हो चुकी है. अब इस पर कलेक्टर-कमिश्नर के साथ बैठक में सीएम शिवराज ने भारी नाराजगी जताई है. भिंड में अवैध शराब से हुई मौतों पर सीएम ने कहा कि अभी जो भिंड में घटना वह दुर्भाग्यपूर्ण घटना है, जो यह कर रहे हैं, वह नर पिशाच हैं. मैं भिंड एसपी से पूछना चाहता हूं कि यह लापरवाही क्यों हुई ? आपने पहले उन्हें क्यों नहीं पकड़ा ? थाने वाले मिलजुलकर कर रहे होंगे ? इसमें ज़ीरो टॉलरेंस है, मैं किसी को नहीं छोडूंगा. बहुत गंभीर कार्रवाई होनी चाहिए.

EXCLUSIVE: जहरीली शराब से भिंड में बिछ सकती है लाशें! मृतक के भाई ने किया बड़ा खुलासा, बोला- 4 दिन पहले बना कर आए हैं 1000 क्वार्टर, शराब की सप्लाई कहां-कहां हुई ये किसी को नहीं पता

सीएम शिवराज ने कहा कि यह एक के बाद एक श्रखंला जैसी हो गई है, कोई कितना भी प्रभावी हो उन्हें क्रश करना है. मैं फिर कह रहा हूँ, यदि लापरवाही हुई तो बर्दाश्त नहीं होगा. यह सब हो रहा हो और थाने को पता न हो, यह हो नहीं सकता है. चंबल एडीजी से सीएम ने पूछा कि आप क्या कर रहे थे, घटना कैसे हुई. अवैध शराब के खिलाफ कार्रवाई में प्रथम 5 जिले इंदौर, बैतूल, जबलपुर, झाबुआ और खरगोन है. इसके अलावा निम्न 5 जिले में सीधी, निवाड़ी, आगर मालवा, गुना और सीहोर शामिल है.

MP में 2 TI और 5 जवान निलंबित: जहरीली शराब से 3यु वक की मौत के बाद जागे SP! अवैध शराब फैक्ट्री का भी हुआ था खुलासा

बता दें कि मध्यप्रदेश के भिंड जिले के रौन थाना इलाके के इंदुरखी गांव में तीन युवक की मौत हो गई. इनकी मौत जहरीली शराब पीने से हुई है. इस मामले में एसपी शैलेंद्र सिंह चौहान रौन थाना प्रभारी उदय भान सिंह यादव और शहर कोतवाली थाना प्रभारी राजकुमार शर्मा और इंदुरखी चौकी बीट पर तैनात 5 जवान को निलंबित कर चुके हैं.

जहरीली शराब से 4 मौतों के बाद जागी पुलिसः इन्दुर्खी गांव में दबिश देकर 10 पेटी अवैध शराब जब्त किया, इधर आबकारी विभाग ने ग्वालियर में शराब भट्टी तोड़ी

मृतक के भाई ने खुलासा करते हुए कहा था कि भिंड के स्वतंत्र नगर में 4 दिन पहले 1000 क्वार्टर शराब बनाकर आए हैं. ये जहरीली शराब कहां-कहां सप्लाई की गई है, किसी को कुछ नहीं पता है. मृतक और गांव के कुछ लोग पांच 500-500 रुपये में जहरीली शराब बनाने जाते थे. वहीं मृतक के भाई के इस खुलासे से जिला प्रशासन के हाथ-पांव फूल गए.

Read more- Health Ministry Deploys an Expert Team to Kerala to Take Stock of Zika Virus