जिन पर थी धान के अवैध परिवहन को रोकने की जिम्मेदारी वही थे नदारद, कमिश्नर ने किया तत्काल निलंबन…

सुदीप उपाध्याय, वाड्रफनगर। प्रदेश में धान खरीदी शुरू होने से पहले ही सीमावर्ती जिलों में अवैध परिवहन को लेकर पुलिस-प्रशासन मुस्तैद है. इसकी एक बानगी बीती रात सरगुजा में देखने को मिली, जहां कमिश्नर व पुलिस महानिरीक्षक ने सीमावर्ती चेक पोस्टों का निरीक्षण किया, जहां अनुपस्थित पाए जाने पर 11 अधिकारी और कर्मचारियों को निलंबित कर दिया गया.

सरगुजा कमिश्नर ईमिल लकड़ा ने वाड्रफनगर विकास खण्ड में लगाए गए चेक पोस्टों पर तैनात अधिकारी कर्मचारियों के अनुपस्थित पाए जाने पर जिन अधिकारी-कर्मचारियों के खिलाफ तत्काल निलंबन की कार्रवाई की है, उनमें दो ग्रामीण कृषि विस्तार अधिकारी योगेंद्र सिंह और जयशंकर प्रसाद शामिल हैं. इनके अलावा वनपाल रूद्रप्रसाद मेढ़ारी, वन परिक्षेत्र वाड्रफनगर व जनकपुर हल्का नंबर 5 पटवारी अमृत सिंह ध्रुव के साथ सचिव ग्राम पंचायत जोैराही राजकुमार गुर्जर, सचिव ग्राम पंचायत कुंदी विजय सिंह, सचिव ग्राम पंचायत स्याही जयसिंह, सचिव ग्राम पंचायत सरूवत शिवबालक सिंह, सचिव ग्राम पंचायत कर्मडीहा देवकिशन सिंह एवं रोजगार सहायक गिरवानी रामवृक्ष राम व बैकुंठपुर रोजगार सहायक जयनारायण सिंह को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है.

सभी अधिकारी-कर्मचारियों के विरुद्ध छत्तीसगढ़ सिविल सेवा आचरण अधिनियम 1965 के नियम 3 ( एक)( दो )(तीन) के तहत सौंपी गई जवाबदेही के प्रति लापरवाही बरतने के फलस्वरुप छत्तीसगढ़ सिविल सेवा आचरण अधिनियम 1966 के नियम 9 के उप नियम 1(क )के तहत कार्रवाई करते हुए निलंबित किया गया है. निलंबन अवधि तक सभी संबंधित अधिकारी कर्मचारियों को जीवन निर्वाह हेतु निलंबन भत्ता प्राप्त करने का अधिकार होगा.

Related Articles

Back to top button
survey lalluram
Close
Close
धन्यवाद, लल्लूराम डॉट कॉम के साथ सोशल मीडिया में भी जुड़ें। फेसबुक पर लाइक करें, ट्विटर पर फॉलो करें एवं हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।