/* Sub menu */ .current-menu-parent a { background: #093; } @media screen and (max-width: 480px) { .sub-menu { flex-direction: column; } } /* Sub menu */

रायपुर। विधानसभा में शून्यकाल के दौरान कांग्रेस के विधायकों ने साधराम यादव हत्याकांड का मामला उठाया. सीबीआई जांच की मांग करते हुए कांग्रेस के विधायक नारेबाजी करते हुए गर्भगृह में उतर गए. इसके साथ ही विधायक निलंबित हो गए. आसंदी ने निलंबन रद्द कर दिया. इसे भी पढ़ें : सदन में गूंजा सीएसआर का मुद्दा, पूर्व मुख्यमंत्री बघेल के सवाल के जवाब में मंत्री ने कहा- मद पर राज्य के नियंत्रण के लिए केंद्र को लिखेंगे पत्र…

सदन में पूर्व मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा कि साधराम यादव की हत्या की सही जांच नहीं की गई है. ना ही पीड़ित परिवार को उचित मुआवजा मिला. रामकुमार यादव, देवेंद्र यादव, द्वारिकाधीश यादव, विक्रम मंडावी और अनिला भेड़िया ने भी उचित कार्रवाई की मांग करते हुए सीबीआई जांच की मांग दोहराई.

इसे भी पढ़ें : जनदर्शन में शिकायत और नप गए शिक्षक : नशे की हालत में स्कूल आना पड़ा भारी, कलेक्टर के निर्देश पर डीईओ ने किया निलंबित…

स्पीकर डॉक्टर रमन सिंह ने कहा कि गृहमंत्री ने इस विषय पर कल ही सदन में स्पष्ट जवाब दे दिया है. इस विषय में आगे भी सदस्यों को अपनी बात कहने का मौक़ा मिलेगा. भूपेश बघेल ने कहा कि यह गंभीर मामला है. सीबीआई जांच की घोषणा की जानी चाहिए. संसदीय कार्यमंत्री बृजमोहन अग्रवाल ने कहा कि जो लोग सीबीआई जांच की मांग कर रहे हैं उन्हें ख़ुद सीबीआई पर भरोसा नहीं है.

इसे भी पढ़ें : दरिया दिल चायवाला : अपना पेट काटकर गरीब, जरुरतमंदों और अनाथों का पेट पाल रहे लाल बहादुर, टपरी पर समाजसेवियों और सेवादारों से भी नहीं लेते पैसे

इस पर भूपेश बघेल ने कहा कि सीबीआई को बैन हमने नहीं किया था. हमारे से पूर्व की सरकार ने ये व्यवस्था कर ली थी. हम जब आये तब हमने सिर्फ़ नोटिफ़िकेशन जारी किया था. आज भाजपा सत्ता में है, लेकिन अब तक सीबीआई की एंट्री को लेकर नोटिफ़िकेशन जारी नहीं किया है. सरकार की अनुमति से किसी जांच पर राज्य की सहमति पहले भी थी.