खुशखबरी: WHO से इसी महीने Covaxin को मिल सकती है मंजूरी, विदेश यात्रा करने वाले को मिलेगी राहत

नई दिल्ली। भारत बायोटेक की हैदराबाद स्थित कोविड-19 वैक्‍सीन कोवैक्‍सीन (Covaxin) को विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) से इसी महीने मंजूरी मिल सकती है. WHO ने अब तक फाइजर-बायोएनटेक, जॉनसन एंड जॉनसन, मॉडर्ना, चीन की सिनोफार्म और ऑक्सफोर्ड-एस्ट्राजेनेका द्वारा विकसित कोविड टीकों को इमरजेंसी यूज की मंजूरी दी है. Covaxin उन 6 टीकों में से एक है. जिसे भारत के ड्रग रेगुलेटर से इमरजेंसी यूज की परमीशन प्राप्त है.

कोवैक्सीन का उपयोग राष्ट्रव्यापी टीकाकरण कार्यक्रम में किया जा रहा है. इसके अलावा कोविशील्ड (Covishield) और स्पुतनिक (Sputnik V) भी भारत में लगाई जा रही है. केंद्र ने जुलाई में राज्य सभा में कहा था कि डब्ल्यूएचओ की इमरजेंसी यूज लिस्ट (EUL) के लिए आवश्यक सभी डॉक्युमेंट भारत बायोटेक ने 9 जुलाई तक जमा कर दिए गए हैं और WHO ने समीक्षा प्रक्रिया शुरू कर दी है.

COVID वर्किंग ग्रुप के अध्यक्ष डॉ. एनके अरोड़ा ने इस बात की पुष्टि करते हुए कहा कि ‘इस सप्ताह के भीतर हमें Covaxin के WHO की EUL में शामिल होने की उम्मीद है.’ उन्होंने कहा कि वैक्सीन को अंतरराष्ट्रीय मान्यता दी जानी चाहिए ताकि विदेश यात्रा करने वाले लोगों को कठिनाई न हो. आने वाले दिनों में Covaxin के उत्पादन में और तेजी आएगी. Covishield का उत्पादन भी बढ़ रहा है.

भारत ने 75 करोड़ वैक्सीन डोज का कीर्तिमान स्थापित कर लिया है, जो अपने आप में एक बड़ी उपलब्धि है. भारत में 10 फीसदी से ज्यादा लोगों यानी तकरीबन 18 करोड़ लोगों को दोनों डोज लग चुकी हैं. जबकि तकरीबन 30% से ज्यादा यानी 56.5 करोड़ से ज्यादा को एक डोज लग चुकी है. इस रिकॉर्ड के लिए WHO की ओर से भी भारत को बधाई दी गई है.

read more- Health Ministry Deploys an Expert Team to Kerala to Take Stock of Zika Virus

">

Related Articles

Back to top button
 
धन्यवाद, लल्लूराम डॉट कॉम के साथ सोशल मीडिया में भी जुड़ें। फेसबुक पर लाइक करें, ट्विटर पर फॉलो करें एवं हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।