लॉकडाउन में छात्रों के एक महीने का किराया माफ करने की मांग, छात्र परिषद के अध्यक्ष ने उच्च शिक्षा मंत्री को लिखा पत्र

सत्यपाल सिंह,रायपुर। कोरोना लॉकडाउन के दौरान किराए से रह रहे छात्रों के एक माह का किराया माफ करने की मांग की गई है. खास कर छात्र संघ सोशल मीडिया, मेल, फेसबुक, ट्वीट, आदि के माध्यम से राज्य सरकार से अपनी मांग रख रहे हैं. गुरू घासीदास केंद्रीय विश्वविद्यालय के छात्र परिषद अध्यक्ष सचिन गुप्ता ने कहा कि देश के साथ प्रदेश में भी लॉकडॉउन है. ऐसे में सभी स्कूल, कॉलेज, विश्वविद्यालय, केंद्रीय विश्वविद्यालय, आईटीआई, जैसे सभी शिक्षण संस्थान बंद है. ऐसे में लगभग लाखों विद्यार्थी जो किराया में रहकर पढ़ाई कर रहे हैं, जो अपने घर लौट गए हैं, किराया से संसाधनों का इस्तेमाल नहीं हो रहा है.

इसलिए हम सब राज्य सरकार और उच्च शिक्षा मंत्री को मेल के जरिए छात्रों की समस्या बताया और छात्रहित में कदम उठाते हुए एक महीने का किराया माफ करने का निवेदन किया है. ग्रामीण अंचल के छात्र छात्राएं आज घर पर है और उनके द्वारा लॉकडाउन का भी पालन सक्रिय रूप से किया जा रहा है. आज इस महामारी के चलते ग्रामीण अंचलों में लोगों की आर्थिक हालत बहुत ही खराब हो चुकी है. इससे लड़ने के लिए उन्हें आर्थिक रूप से सहायता मिलेगी.

साथ ही कहा कि जहां एक ओर छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने छत्तीसगढ़ शासन द्वारा मजदूर और कर्मचारियों का एक माह तक का किराया नहीं मांगा जाए करके निर्देशित किया है. वहीं दूसरी ओर पूरे छत्तीसगढ़ के समस्त जिलों में अलग अलग कॉलेज यूनिवर्सिटी में भारी संख्या में ग्रामीण अंचल के छात्र छात्राएं रह कर अपनी पढ़ाई पूरी कर रहे है.

Related Articles

Back to top button
Close
Close
 
धन्यवाद, लल्लूराम डॉट कॉम के साथ सोशल मीडिया में भी जुड़ें। फेसबुक पर लाइक करें, ट्विटर पर फॉलो करें एवं हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।