5वीं-6वीं क्लास की छात्राओं ने साफ किया शौचालय: ग्रामीण विकास मंत्री महेंद्र सिंह सिसोदिया के विधानसभा का मामला, कलेक्टर ने डीईओ को सौंपी जांच

शेखर उप्पल, गुना। गुना में छात्राओं के शौचालय साफ करने का इमेज सोशल मीडिया पर वायरल हुआ है। छात्राओं के शौचालय साफ करने का इमेजपंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री महेंद्र सिंह सिसोदिया की विधानसभा बमोरी में स्थित चकदेवपुर गांव की है। इससे मामला काफी कंट्रोवर्सी हो गया है।फिलहाल मामले की जांच के लिए कलेक्टर ने डीईओ को सौंपा है। इस मामले में कैमरे के सामने कोई कुछ कहने को तैयार नहीं है।

समलैंगिक रिश्ते का खौफनाक अंतः नाबालिग का हाथ-पैर बंधे और मुंह पर टेप लगा शव मिला, दोस्त के सेक्सटॉर्शन से तंग आकर युवक ने हत्या कर लगा ली थी फांसी, सुसाइड नोट ने खोली चौंकाने वाली दास्तां


दरअसल पूरा मामला गुना ब्लॉक के चकदेवपुर प्राइमरी स्कूल का है। 5वीं-6वीं की छात्राओं द्वारा विद्यालय के शौचालय की सफाई करते कुछ फोटो सामने आए थे। इसमें छात्राएं झाड़ू थामकर शौचालय को साफ करती नजर आ रही थीं। छात्राएं इसके लिए बाहर हैंडपंप से बाल्टी में पानी भी लाती हैं। इधर, जैसे ही छात्राओं द्वारा शौचालय सफाई का मामला अधिकारियों के संज्ञान में आया, तो गुरुवार को जिला शिक्षा अधिकारी को उक्त स्कूल में जांच के लिए भेजा।

Honey Trap: ब्रह्मचर्य का पाठ पढ़ाने वाला भी हुस्न के जाल में फंसा, हसीना ने कैमरे के सामने अपने कपड़े खोलकर बना लिये अश्लील वीडियो, फिर चला ब्लैकमेलिंग का खेल
इसे लेकर जब हमने जिला शिक्षा अधिकारी से बात की तो उन्होंने बताया कि मामले की सूचना उन्हें सोशल मीडिया के माध्यम से प्राप्त हुई और तत्काल प्रभाव में वे विद्यालय का निरीक्षण करने पहुंचे। वहीं जिला शिक्षा अधिकारी का यह भी कहना है कि मामले की गंभीरता को देखते हुए यदि यह मामला सत्य निकला तो शिक्षकों तथा प्रधानाचार्य पर कठोर अनुशासनात्मक कार्रवाई की जाएगी।

MP: टीनएजर्स से अननेचुरल सेक्स, वारदात को अंजाम देने वाले 3 में से 2 नाबालिग, झाबुआ की महिला से गुजरात में रेप
छात्राओं ने अपने मन से शौचालय साफ करने की बात कही

वहीं मामले में शौचालय साफ करने वाली छात्राओं से बात की गई तो उन्होंने कहा कि वह अपनी स्वेच्छा से शौचालय में पानी डाल रही थी क्योंकि वह गंदा हो गया था। उसे किसी भी टीचर ने नहीं बोला ऐसा करने को नहीं कहा था।

वहीं सवाल यह उठता है कि यदि शिक्षकों के द्वारा उन बच्चों को ऐसा करने के लिए नहीं कहा गया तो क्यों बच्चियां खुद से शौचालय साफ कर रही थी। ऐसा भी माना जा रहा है कि शायद उन बच्चियों को शिक्षकों द्वारा डरा धमकाकर इस तरह के बयान दिलवाए गए हैं।

40 लाख रुपए की चंदन की लकड़ी जब्तः गोदाम में स्टोर करके रखी गई थी 270 किलो लड़की, गिरफ्तार दो आरोपियों में एक राजस्थान का

Read more- Health Ministry Deploys an Expert Team to Kerala to Take Stock of Zika Virus

Related Articles

Back to top button