Contact Information

Four Corners Multimedia Private Limited Mossnet 40, Sector 1, Shankar Nagar, Raipur, Chhattisgarh - 492007

रायपुर: राज्य सरकार के हेलीकाॅप्टर की क्रैश लैडिंग में दो पायलटों की मौत के बाद एक सनसनीखेज जानकारी सामने आई है. इस जानकारी के मुताबिक अब ये बड़ा सवाल उठ खड़ा हुआ है कि क्या हेलीकाॅप्टर के रखरखाव में विमानन विभाग बड़ी लापरवाही बरत रहा था ?

इसे भी पढ़ें: हेलीकॉप्टर क्रैश EXLUSIVE VIDEO: एयरपोर्ट पर हेलीकॉप्टर क्रैश होने से 2 पायलट की मौत, देखिए तस्वीर और VIDEO

दरअसल, LALLURAM.COM के हाथ विमानन विभाग से जुड़ी एक चिट्ठी हाथ लगी है. इस चिट्ठी में लिखे तथ्य बेहद गंभीर किस्म के हैं. चिट्ठी में इस बात का उल्लेख है कि सरकारी हेलीकाॅप्टर अगस्ता A 109 E (VT-CHG) के टेल रोटर हब की लाइफ खत्म होने के बाद भी हेलीकाॅप्टर उड़ान भरता रहा.

कंपनी के तय मापदंडों के तहत टेल रोटर हब की लाइफ तीन हजार घंटे तक है, बावजूद इसके राज्य सरकार के हेलीकाॅप्टर ने तय मापदंडों से कहीं ज्यादा करीब 3090 घंटे तक उड़ान भरा. इस विभाग का जिक्र विमानन विभाग की ओर से स्टेट हैंगर के अधिकारियों को लिखी चिट्ठी में मिलता है.

इसे भी पढ़ें: Raipur Airport Update: मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने एय़रपोर्ट हादसे पर जताया दुख,हेलीकॉप्टर क्रैश से 2 पायलट की हुई है मौत

यह चिट्ठी 23 अगस्त 2021 की है, जिसमें विमानन संचालक ने हेलीकाॅप्टर का रखरखाव करने वाले अधिकारियों को लापरवाही बरतने पर अंतिम चेतावनी दी थी.

पत्र के मुताबिक कहा गया था कि कर्तव्य निर्वहन में लगातार लापरवाही बरती जा रही है. टेल रोटर हब की लाइफ 23 जनवरी 2021 तक राज्य सरकार का हेलीकाॅप्टर 3090 घंटे तक की उड़ान भरता रहा, जबकि निर्माता कंपनी के अनुसार इसकी लाइफ मात्र तीन हजार घंटे ही है. इस संदर्भ में हेलीकाॅप्टर का रखरखाव करने वाले जिम्मेदारों के जवाब पर विमानन विभाग ने असंतुष्ट पाया था.

इसे भी पढ़ें: रायपुर एयरपोर्ट पर राज्य सरकार का हेलीकॉप्टर क्रैश, 2 पायलट की मौत, देखिए तस्वीरें

संचालक विमानन ने कुल 9 बिंदुओं पर यह चेतावनी जारी की थी. इस चेतावनी के मुख्य हिस्से में इस बात का जिक्र बार-बार किया गया था कि टेल रोटर हब से संबंधित अत्यंत गंभीर लापरवाही सामने आई है. इस पत्र के बिंदु क्रमांक 8 में लिखा गया है कि कई बार विभाग ने इस प्रकार की स्थिति उत्पन्न होने से वीवीआईपी विमानन की सुरक्षा एवं विभाग की विश्वसनीयता पर गंभीर प्रश्न चिन्ह लग गए हैं.

इस मामले में LALLURAM.COM की टीम ने जब विमानन विभाग के संचालक नीलम नामदेव एक्का से जानकारी लेनी चाही तो उन्होंने मीटिंग का हवाला देकर फोन काट दिया.

बता दें कि कल रायपुर एयरपोर्ट पर हेलीकॉप्टर क्रैश हो गया था. इस हादसे में 2 पायलट की मौत हो गई. इस हादसे में पायलट कैप्टन पंडा और कैप्टन श्रीवास्तव की मौत हो गई. पायलट प्रैक्टिस के बाद हेलीकॉप्टर लैंड कर रहे थे, इसी दौरान चिंगारी निकलते ही क्रैश हो गया.

">
Share: