whatsapp

‘एयरपोर्ट बीजेपी का कार्यालय नहीं, जहां अमित शाह बैठक लेंगे’, जेसीसी सुप्रीमो अजीत जोगी का तंज

रायपुर- छत्तीसगढ़ के बेहद ही संक्षिप्त प्रवास पर पहुंच रहे बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह पर जेसीसी सुप्रीमो और पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी ने जमकर निशाना साधा है. जोगी ने शाह की उस बैठक पर कड़ी टिप्पणी की है, जो एयरपोर्ट में ही संगठन नेताओं की मौजूदगी में होगी. अजीत जोगी ने कहा- ये बेहद आपत्तिजनक है कि एयरपोर्ट को पार्टी कार्यालय की तरह उपयोग किया जा रहा है.

अजीत जोगी ने कहा कि- एयरपोर्ट कोई बीजेपी का कार्यालय नहीं है, जिससे वहां राजनीतिक बैठक की जा रही है. जोगी ने कहा कि केंद्र और राज्य में बीजेपी की सरकार होने की वजह से अमित शाह कानून का खुला उल्लंघन कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि कानून में यह प्रावधान कतई नहीं है कि एयरपोर्ट को पार्टी कार्यालय बनाकर बैठक की जाए.

दरअसल अमित शाह ओडिशा दौरे पर जा रहे हैं. रायपुर का स्वामी विवेकानंद अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट उनका ट्रांजिट स्टेशन होगा, जहां एक घंंटा बिताने के बाद शाह भुवनेश्वर के लिए रवाना हो जाएंगे. इस घंटे के दौरान ही अमित शाह से बीजेपी सरकार और संगठन के तमाम बड़े चेहरों की मुलाकात होगी. चर्चा है कि इस दौरान अमित शाह संगठन नेताओं की बैठक भी ले सकते हैं. जून में राजधानी के तीन दिवसीय प्रवास के दौरान आए शाह ने संगठन को लक्ष्य दिया था. जाहिर है कि जब अमित शाह का संक्षिप्त दौरा होगा, तो उस लक्ष्य पर प्रदेश संगठन कहां तक पहुंचा इसकी पूछताछ भी शाह द्वारा की जाएगी.

छत्तीसगढ़ में आगामी छह महीनों में विधानसभा चुनाव होने है. बीजेपी राज्य में चौथी बार सरकार बनाने की कवायद में जुटी है. पिछले दौरे में अमित शाह ने प्रदेश संगठन को मिशन 65 का बड़ा लक्ष्य भी दिया था. संगठन के आला नेता बताते हैं कि संक्षिप्त प्रवास पर रायपुर आने के दौरान अमित शाह बीजेपी के उस ब्लूप्रिंट से भी वाकिफ होंगे, जिसे बीजेपी ने जीतने के लिए तैयार किया है. हालांकि अब जब जेसीसी सुप्रीमो का विरोध एयरपोर्ट पर होने वाली बैठक पर दर्ज कराया गया है, तो ऐसे में बीजेपी की इस पर क्या प्रतिक्रिया होगी, यह सौ टके का सवाल है.

Related Articles

Back to top button