whatsapp

दिल्ली: 27 अक्टूबर से ”पटाखे नहीं दीया जलाओ” अभियान की होगी शुरुआत

केजरीवाल सरकार लोगों को दिवाली दीये के साथ मनाने के लिए करेगी प्रोत्साहित

नई दिल्ली। पर्यावरण मंत्री गोपाल राय ने दिल्ली पुलिस और पर्यावरण विभाग के अधिकारियों के साथ सोमवार को संयुक्त बैठक की. इसमें दिल्ली में 27 अक्टूबर से “पटाखे नहीं, दीया जलाओ” अभियान शुरू करने का फैसला किया गया. गोपाल राय ने कहा कि केजरीवाल सरकार पटाखे नहीं, दीया जलाओ अभियान के जरिए पटाखों को जलाने से लोगों को रोकेगी. लोगों को दिवाली, दीये के साथ मनाने के लिए प्रोत्साहित करेगी. दिल्ली पुलिस के सभी 15 जिलों में 15 केंद्रीय टीम बनाई जाएंगी, जिसमें करीब 157 सदस्य होंगे. पुलिस के साथ-साथ 33 एसडीम के नेतृत्व में टीमों का गठन किया गया है, जो दिल्ली के अंदर अलग-अलग हिस्सों में इस अभियान के तहत कार्रवाई करेंगे.

दिल्ली: IGI एयरपोर्ट पर शख्स के बैग से महंगे मोती और रत्न बरामद

इस दौरान गोपाल राय ने अपील की कि दीपावली पर अखबारों में छपने और टीवी पर चलने के लिए जो भी विज्ञापन बन रहे हैं, उसमें प्रतीक के तौर पर पटाखे की जगह दीए का प्रयोग करें.

दिल्ली के पर्यावरण मंत्री गोपाल राय ने सचिवालय में प्रेस वार्ता को भी संबोधित किया. उन्होंने बताया कि ‌दिल्ली के अंदर प्रदूषण को रोकने के लिए दिल्ली सरकार द्वारा युद्धस्तर पर अभियान चलाया जा रहा है, जिसमें एंटी डस्ट अभियान, रेड लाइट ऑन गाड़ी ऑफ अभियान और पराली को गलाने का अभियान शामिल है. उन्होंने कहा कि दिवाली में होने वाले प्रदूषण को रोकने के लिए सरकार ने पहले ही पटाखे की खरीद-बिक्री और उसे जलाने पर बैन लगा दिया है.

संयुक्त किसान मोर्चा ने किसानों से की अपील- ‘दिवाली दिल्ली के बॉर्डर पर आकर मनाएं’

उन्होंने कहा कि दिल्ली सरकार ने पुलिस और जिला मजिस्ट्रेट को 28 सितंबर को नोटिफिकेशन जारी किया था‌ कि दिल्ली के अंदर पटाखों के लिए लाइसेंस देना भी बैन है. पिछले साल ग्रीन पटाखों को लाइसेंस दिया गया था. व्यापारियों ने पटाखे खरीद लिए और दुकानों में जमा कर लिए,‌ लेकिन अंतिम समय पर पटाखे बैन होने से उनका काफी नुकसान हुआ, इसलिए सरकार ने इस बार पहले से ही निर्णय लिया कि हम पटाखे बैन करेंगे, इसलिए किसी को दिल्ली के अंदर लाइसेंस नहीं दिया गया.

पटाखे नहीं दीया जलाओ अभियान

गोपाल राय ने कहा कि इस बैठक में फैसला किया कि पटाखे नहीं, दीया जलाओ अभियान 27 अक्टूबर से शुरू करेंगे. इस अभियान के दो हिस्से हैं. पहला, पटाखे जलाने से लोगों को रोकना और दूसरा आरडब्ल्यूए के साथ पुलिस अधिकारी, एसडीएम के जरिए बैठक कर लोगों को दिवाली दीए के साथ मनाने के लिए प्रोत्साहित करना.

बैठक में फैसला लिया है कि दिल्ली के अंदर सभी जिलों में एक केंद्रीय टीम होगी, जो पटाखा फोड़ने‌ पर रोक लगाने का काम करेगी. दिल्ली पुलिस के 15 जिले हैं, उसमें 15 केंद्रीय टीम बनेगी. जिसमें करीब 157 सदस्य होंगे. एक टीम में 5 से 7 सदस्य होंगे, जो जिला स्तर पर पूरे ऑपरेशन का नेतृत्व करेंगे. उसके साथ-साथ दिल्ली के अंदर 157 थानों के स्तर पर भी तो दो-दो लोगों की टीम बनेगी। दिल्ली के अंदर थानों के स्तर पर पटाखों की खरीद-बिक्री और फोड़ने की जांच की जाएगी.

गाइडलाइन के उल्लंघन पर होगी कड़ी कार्रवाई

पर्यावरण मंत्री गोपाल राय ने कहा कि पूरी दिल्ली के अंदर कहीं भी पटाखे की खरीद-बिक्री या जलाने की घटना सामने आती है तो दिल्ली पुलिस को 112 नंबर पर कॉल करके सूचना दे सकते हैं. उन्होंने कहा कि अगर फिर भी कोई नहीं मानता है, तो पुलिस और एसडीम की तरफ से आईपीसी की धारा 188 और 286 के तहत कार्रवाई की जाएगी. इसके साथ साथ एक्सप्लोसिव एक्ट 5/9बी के तहत कार्रवाई की जाएगी.

Related Articles

Back to top button