whatsapp

वोट बैंक के लिए आदिवासियों का इस्तेमाल: उद्योग मंत्री बोले- विधायकों के समर्थन के बाद भी कांग्रेस ने आदिवासी नेता को नहीं बनाया CM, कमलनाथ की थी बड़ी भूमिका

रेणु अग्रवाल, धार। मध्यप्रदेश के उद्योग मंत्री राजवर्धन सिंह दत्तीगांव का बड़ा बयान सामने आया है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने हमेशा आदिवासियों को वोट बैंक के रूप में इस्तेमाल किया है लेकिन इस वर्ग के नेता को कभी मुख्यमंत्री नहीं बनने दिया। कांग्रेस अगर चाहती तो आदिवासी नेता शिवभानु सिंह सोलंकी बहुत पहले ही मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री बने होते।

उन्होंने कहा कि मेरे पिताजी जब कांग्रेस के नेता हुआ करते थे तब उन्होंने बताया था कि अभेद मध्य प्रदेश जब छत्तीसगढ़ मध्यप्रदेश में शामिल था। उस समय कांग्रेस को प्रदेश में बहुमत मिला था। विधायकों ने आदिवासी समाज के सबसे वरिष्ठ शिवभानुसिंह सोलंकी को अपना नेता मान लिया था। विधायकों का उन्हें समर्थन प्राप्त था। जिनका मुख्यमंत्री बनना तय हो चुका था। लेकिन दिल्ली से फरमान आया कि शिवभानुसिंह मुख्यमंत्री नहीं बनेंगे। इनके बजाय अर्जुन सिंह को मुख्यमंत्री बनाया जाएगा।

MP में LALLURAM.COM की खबर पर मुहर: इकबाल सिंह बैंस ही होंगे मुख्य सचिव, 6 महीने के लिए बढ़ाया गया कार्यकाल

शिवभानु सिंह को मुख्यमंत्री नहीं बनने देने के पीछे कमलनाथ भी सक्रिय थे। आदिवासी नेता को मुख्यमंत्री नहीं बनने देने में उनकी भी बड़ी भूमिका थी। कांग्रेस अगर चाहती तो कई वर्षों पहले ही आदिवासी मुख्यमंत्री बन गया होता। कांग्रेस ने हमेशा आदिवासी समाज को वोट बैंक के रूप में उपयोग किया है। उन्होंने इस वर्ग की चिंता कभी नहीं की।

दिग्विजय सिंह ने उप मुख्यमंत्री स्वर्गीय जमुनादेवी को कभी आगे नहीं बढ़ने दिया

उन्होंने कहा कि उप मुख्यमंत्री स्वर्गीय जमुनादेवी को भी दिग्विजय सिंह ने कभी भी आगे नहीं बढ़ने दिया। जमुनादेवी ने सार्वजनिक बयान दिया था कि मैं दिग्विजय सिंह के तंदूर में जल रही हूं। कांग्रेस ने आदिवासी नेता कांतिलाल भूरिया को प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष तो बना दिया था, लेकिन उनका रिमोंट कंट्रोल किसी और के पास था। आदिवासी समाज के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने किया है। मंत्री ने पेसा एक्ट के बारे में भी बताया।

RSS नेता गोपाल येवतीकर का निधन: CM शिवराज ने ट्वीट कर जताया दुख, अंतिम संस्कार में होंगे शामिल

बता दें कि टंट्या मामा भील की गौरव यात्रा इन दिनों क्षेत्र के गांवो में निकल रही है। प्रदेश सरकार के उद्योग मंत्री और क्षेत्रीय विधायक राजवर्धन सिंह दत्तीगांव क्रांतिसूर्य टंट्या मामा भील की गौरव यात्रा कार्यक्रम में शामिल होने बदनावर पहुंचे थे। इस दौरान पूर्व विधायक खेमराज पाटीदार, जनपद पंचायत अध्यक्ष प्रतिनिधि डॉ प्रह्लादसिंह सोलंकी, नगर परिषद अध्यक्ष मीना यादव समेत कई नेता मंचासीन थे।

Read more- Health Ministry Deploys an Expert Team to Kerala to Take Stock of Zika Virus

Related Articles

Back to top button