मामा! आपकी भांजियों ने पुलिसकर्मियों पर मारपीट का लगाया आरोप, कार्रवाई और इलाज की मांग को लेकर एसपी ऑफिस के बाहर दो घंटे बैठी रही, पर नहीं मिलने पहुंचे एसपी

प्रदीप सिंह ठाकुर, देवास। ग्राम धानिघाटी की कुछ कुछ बच्चियां और महिलाएं रविवार को देवास एसपी ऑफिस में न्याय की गुहार लेकर पहुंची। रोती बिलखती बच्चियों ने पुलिस पर मारपीट का आरोप लगाते हुए दोषी पुलिसकर्मियों पर कार्रवाई की मांग कर रहे थे। बच्चियों और महिलाओं का आरोप था कि नेवरी चौकी प्रभारी एसएस मीणा समेत अन्य पुलिसकर्मी घर में घुसकर हमारे साथ मारपीट की है। सभी पुलिसकर्मियों पर कार्रवाई और इलाज की मांग को लेकर एसपी दफ्तर के बाहर दो घंटे तक बैठी रहीं। बावजूद इसके देवास एसपी शिवदयाल सिंह (Dewas SP Shivdayal Singh) ने उनसे मिलने तक नहीं पहुंचे। महिला पुलिसकर्मी ने सभी को कार्रवाई करने का भरोसा देते हुए बिना इलाज करवाए वहां से रवाना किया। 

बच्चियों और महिलाओं ने कहा कि बह चौकी प्रभारी एसएस मीणा पुलिसकर्मियों के साथ गाँव में पहुंचे। बिना कुछ हमसे पूछे घर में घुसकर तलाशी लेने लगे। जब हमने इसका वीडियो बनाया तो हमारे साथ मारपीट की। हमें गालियां भी दी।

इसे भी पढ़ेः मंच पर जगह ना मिलने से खफा हुए नेता जी, सीएमएचओ हाथ जोड़कर करते रहे मान-मनौव्वल लेकिन नहीं माने, देखिए वीडियो

चौकी प्रभारी को हटाने की मांग 

पुलिस के सामने अपनी बात रखते हुए प्रीति और विशाखा नामक बच्ची फूटफूटकर रोने लगीं। बच्चियों ने कहा कि हम पहले भी आवेदन दे चुके हैं। लेकिन पुलिस जांच के नाम पर कुछ नहीं करती। आज पुलिसवालों ने घर में घुसकर हमारे साथ मारपीट की। बच्चों और महिलाओं को जेन्स पुलिस कैसे मार सकती है। यहीं नहीं आवेदन देने आई बच्चियों ने पुलिस पर बदतमीजी करने का आरोप भी लगाया। साथ ही उन्होंने चौकी प्रभारी को वहां से हटाने की मांग भी की।

इसे भी पढ़ेः BIG BREAKING: विवादस्पद बयान पर मंत्री बिसाहूलाल ने सीएम से मांगी माफी, भविष्य में ऐसा बयान नहीं देने का दिया भरोसा, मुख्यमंत्री ने लिखित में मांगा जवाब

बच्चों के डंडे से मारने का लगाया आरोप 
सरिता नामक महिला ने बताया कि वह अपनी भतीजियों को बचाने गई तो पुलिस ने उसके पैर पर डंडे से मारा। जिसकी वजह से उसके पैर में चोट आई है। महिलाएं और बच्चियां उनका मेडिकल किए जाने की मांग करते हुए करीब दो घंटे तक एसपी ऑफिस में बैठी रहीं। लेकिन पुलिस ने बिना मेडिकल किए ही उन्हें रवाना कर दिया।

इसे भी पढ़ेः MP के इस जिले में फैला बर्ड फ्लू! एक दिन में 33 कौओं की हुई मौत, जांच के लिए भेजा गया सैंपल, पिछले साल इसी इलाके में फैला था ‘Bird Flu

वरिष्ठ अधिकारी करेंगे कार्रवाई 
मामले में महिला थाना प्रभारी रेखा चौधरी ने कहा की महिलाओं से चर्चा कर उनको समझाइश देकर वापस भेजा गया हैं। उनके द्वारा दिए गए आवेदन पर वरिष्ठ अधिकारियों द्वारा जांच कर आगे की कार्रवाई की जाएगी।

इसे भी पढ़ेः BIG BREAKING: कोरोना के नए वेरिएंट पर शिवराज सरकार अलर्ट, 50 फीसदी बच्चों के साथ स्कूल संचालित करने का लिया निर्णय, ऑनलाइन क्लास भी चलेंगे, कोरोना समीक्षा बैठक में सीएम का फैसला

जानिए क्या है पूरा मामला 

दरअसल यह पूरा मामला नेवरी चौकी के अंतर्गत आने वाले ग्राम धानिघाटी का है। मामला सीसीटीवी वीडियो से जुड़ा हुआ हैं, जो कुछ दिन पहले वायरल हुआ था।वीडियो में एक युवक डंडे से पुलिस पर हमला करता दिखाई दे रहा था। वहीं नेवरी चौकी प्रभारी एसएस मीणा उसे डराने के लिए पिस्टल दिखाते हुए नजर आ रहें थे। इस मामले में एसपी डॉ. शिवदयाल सिंह ने 22 नवंबर को जांच के आदेश भी दिया है।

इसे भी पढ़ेः BIG BREAKING: मंत्री बिसाहूलाल सिंह के बयान पर बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष ने मांगी माफी, कहा-समाज की भावनाएं आहत हुई हैं तो उसके लिए मैं क्षमा प्रार्थी, सीएम हाउस पहुंचे

">

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!