पंजाब में कंगना का विरोध, अभिनेत्री की गाड़ी को किसानों ने घेरा, कहा- ‘बयानों के लिए मांगें माफी’, कंगना ने सोशल मीडिया पर बताया मॉब लिंचिंग

कीरतपुर, पंजाब। बॉलीवुड एक्ट्रेस कंगना रनौत अपने विवादित बयानों के लिए हमेशा सुर्खियों में रहती हैं. उन्होंने किसान आंदोलन के खिलाफ भी कई बयान दिए, जिस पर उन्हें ट्रोल भी किया गया. अब यही बयान उनके लिए मुसीबत बन गए हैं. शुक्रवार को अभिनेत्री कंगना पंजाब पहुंचीं, जहां सिखों और किसानों के खिलाफ की गई टिप्पणियों के विरोध में किसानों ने उनके काफिले को रोक लिया. सैकड़ों किसानों ने उनकी कार को रोक लिया और माफी की मांग करने लगे. पहले यह घेराव चंडीगढ़-ऊना नेशनल हाईवे पर कीरतपुर साहिब में किया गया. जिसके बाद वहां कंगना गाड़ी से बाहर निकलीं और लोगों से माफी मांगी. दरअसल कंगना ने किसान आंदोलन की तुलना खालिस्तानी आंदोलन से की थी. उनके खिलाफ कई जगह केस दर्ज किए गए.

पंजाब में केजरीवाल ने दी चौथी और पांचवीं गारंटी, हर बच्चे को फ्री एजुकेशन और पुलिस के शहीद जवानों के परिवारों को 1-1 करोड़ की सम्मान राशि

 

इसके बाद रोपड़ में टोल प्लाजा पर विरोध के लिए किसान इकट्ठा हो गए. इसकी खबर मिलते ही पुलिस ने टोल से 200 मीटर पहले काफिले को मोरिंडा के गांवों में घुसा दिया. गांवों के रास्ते फिर उन्हें हाईवे पर लाया गया. कंगना ने सोशल मीडिया पर वीडियो जारी कर इसे मॉब लिंचिंग करार दिया. उन्होंने कहा कि खुद को किसान कह रहे कई लोगों ने मुझे घेर लिया है. भारी सुरक्षा और पुलिस होने के बावजूद ये सब हो रहा है. उन्होंने कहा कि मुझे जान से मारने की धमकी दी जा रही है. मेरे साथ मॉब लिंचिंग जैसा हो रहा है. मुझे गालियां दी जा रही हैं. जब सिक्योरिटी के साथ ऐसा है, तो जब सुरक्षा नहीं होगी, तब क्या होगा ?

CORONA वैक्सीन के बूस्टर डोज और बच्चों के लिए अब तक टीका आने को लेकर अस्पष्टता, विपक्ष ने केंद्र पर निशाना साधा

 

प्रदर्शनकारियों के हाथों में झंडे थे और इन्होंने कंगना के खिलाफ जमकर नारेबाजी की. गौरतलब है कि कंगना किसानों खासकर सिख समुदाय के खिलाफ सोशल मीडिया पर कथित कमेंट को लेकर आलोचना का सामना कर चुकी हैं. दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक समिति ने तो इंस्टाग्राम पर सिख समुदाय के खिलाफ कथित रूप से आपत्तिजनक टिप्पणी करने को लेकर कंगना के खिलाफ पुलिस में शिकायत तक दर्ज कराई है. गुरुद्वारा प्रबंधक समिति का कहना है कि सोशल मीडिया पर हाल में किए गए अपने पोस्ट में कंगना ने जानबूझकर किसानों के प्रदर्शन को खालिस्तानी आंदोलन बताया. वहीं कंगना राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के खिलाफ आपत्तिजनक टिप्पणी कर चुकी हैं. कंगना ने दावा किया था कि सुभाषचंद्र बोस और भगत सिंह को महात्‍मा गांधी से समर्थन नहीं मिला. यहीं नहीं, कंगना ने बापू के ‘अहिंसा के मंत्र’ का भी मजाक बनाते हुए कहा था कि एक और गाल आगे करने से आपको ‘भीख’ मिलती है आजादी नहीं.

 

">

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!