ऑस्ट्रेलिया को लगा है बड़ा झटका, जवाब देने के लिए 2 महीने का वक्त, इसके बाद फैसला

मेलबर्न- ऑस्ट्रेलिया में इन दिनों एशेज सीरीज जारी है। जिसके 4 मुकाबले हो चुके हैं, और सीरीज का 5वां और आखिरी मुकाबला बाकी है। लेकिन सीरीज के 5वें मुकाबले से पहले ही ऑस्ट्रेलिया के सामने बड़ी मुसीबत आ गई है। दरअसल आईसीसी ने मलबर्न में हुए सीरीज के चौथे टेस्ट पिच को खराब रेटिंग दे दी है। जिसके बाद अब क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया के पास जवाब देने के लिए महज 2 महीने का ही वक्त है। और इसके बाद संभावित सजा का फैसला किया जाएगा।


पिच को मिली खराब रेटिंग
ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड के बीच एशेज सीरीज का बॉक्सिंग डे टेस्ट मैच जिस पिच पर खेला गया। उसी पिच को आईसीसी ने खराब रेटिंग दे दी है। इससे पहले जब मुकाबला चल रहा था उस समय भी कमेंट्रेटर और कई खिलाड़ियों ने पिच की काफी आलोचना की थी। इतना ही मैच का रिजल्ट जब ड्रॉ निकला, मैच खत्म हो जाने के बाद दोनों टीम के कप्तानों ने भी इस पिच की जमकर आलोचना की थी।
मैच रेफरी ने भी दी खराब रेटिंग
आईसीसी मैच रेफरी रंजन मदुगले ने भी अपनी आधिकारिक रिपोर्ट में पिच को खराब रेटिंग दी है। ये ऑस्ट्रेलिया का पहला मैदान है जिसे खराब रेटिंग दी गई है।
ये हो सकती है सजा
वर्तमान में जो नियम हैं, उसके तहत आईसीसी की सजा आधिकारिक चेतावनी से लेकर जुर्माने तक हो सकती है। लेकिन गुरुवार से जो नियम प्रभावी होने वाले हैं, उसके तहत आधिकारिक रुप से खऱाब या अनफिट रेटिंग वाले पिच को डिमेरिट प्वाइंट्स दिए जाएंगे जो बाद में बैन का कारण भी बन सकते हैं ।
अच्छे मैदानों में से एक है एमसीजी
मेलबर्न का ये मैदान पूरी दुनिया में फेमस है, ऑस्ट्रेलिया के अच्छे मैदानों में से एक है। ऑल्ट्रेलिया में यहां अधिकतर मैच खेले जाते हैं । इस मैदान में हर साल बॉक्सिंग डे टेस्ट मैच का आयोजन भी होता है। 2015 वनडे वर्ल्ड कप का फाइनल भी इसी मैदान पर खेला गया था।
भारत के इस पिच को मिल चुकी है खराब रेटिंग
पिछल साल आईसीसी ने भारत के पुणे स्टेडियम की पिच को भी खराब रेटिंग दिया था। तब भारत को ऑस्ट्रेलिया ने हराया था। 2015 वनडे वर्ल्ड कप का फाइनल भी इसी मैदान पर खेला गया था।
एशेज सीरीज का आखिरी मैच
एशेज सीरीज का पांचवां और आखिरी टेस्ट मैच 4 जनवरी स 8 जनवरी के बीच सिडनी क्रिकेट ग्राउंड में खेला जाएगा। इस सीरीज में पहले ही ऑस्ट्रेलिय 3-0 से अजेय बढ़त बना चुका है।

Related Articles

Back to top button