लखीमपुर हिंसा : लापता पांच मोबाइल फोन दो महीने बाद पुलिस ने किया बरामद, जांच के लिए भेजा जाएगा लैब

लखीमपुर खीरी. यूपी के लखीमपुर हिंसा के बाद से लापता पांच मोबाइल फोन दो महीने बाद पुलिस ने बरामद कर लिए हैं. यह फोन तिकुनिया कांड के पांचों आरोपियों के हैं. अब इन मोबाइल फोन को जांच के लिए लैब भेजा जाएगा. यह फोन आरोपी सुमित, लवकुश, रिंकू, शिशुपाल और धर्मेंद्र के हैं.

बताया जा रहा है कि इन पांच में से दो फोन राहगीरों के पास से मिले हैं. तीन फोन एसआईटी बरामद करके लाई है. सुप्रीम कोर्ट के निर्देश के बाद बनी एसआईटी के आने के बाद जांच में तेजी भी आई है. 25 नवंबर को एसआईटी यहां पहली बार पहुंची थी. एसआईटी में शामिल आईपीएस एसबी शिरडकर, प्रितिंदर सिंह व पद्मजा चौहान जांच में जुटे हैं. तिकुनिया कांड की जांच के लिए सुप्रीम कोर्ट ने तीन सीनियर आईपीएस अफसरों की एसआईटी गठित की है.

एसआईटी की जांच की मानिटरिंग पंजाब हरियाणा हाईकोर्ट के रिटायर्ड जज राकेश जैन कर रहे हैं. एसआईटी के सबसे सीनियर अफसर एसबी शिरडकर हैं. वह एडीजी इंटेलीजेंस के महत्वपूर्ण पद पर तैनात हैं. उनके अलावा मूल रूप से हैदराबाद की रहने वाली पद्मजा चौहान खीरी जिले की एसपी रह चुकी हैं. डीआईजी सहारनपुर डा. प्रितिंदर सिंह भी टीम में शामिल हैं.

">

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!