Contact Information

Four Corners Multimedia Private Limited Mossnet 40, Sector 1, Shankar Nagar, Raipur, Chhattisgarh - 492007

नई दिल्ली। दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया के खिलाफ 100 करोड़ की मानहानि का केस दर्ज कराया गया है. असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा की पत्नी रिंकी भुइयां सरमा ने मंगलवार को पीपीई किट खरीद मामले में घपले का आरोप लगाने वाले AAP नेता और दिल्ली के डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया (Deputy Chief Minister Manish Sisodia) के खिलाफ 100 करोड़ रुपए का मानहानि का मुकदमा दायर किया. रिंकी सरमा के वकील पी. नायक ने कहा कि उनके मुवक्किल ने कॉर्पोरेट सामाजिक जिम्मेदारी गतिविधियों के तहत PPE किट दान के रूप में जमा की.

सिविल जज कोर्ट (कामरूप मेट्रो) गुवाहाटी में केस दर्ज

दिल्ली के डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया

असम के मुख्यमंत्री डॉ हिमंत बिस्वा सरमा की पत्नी रिंकी भुइयां सरमा ने मनीष सिसोदिया के खिलाफ सिविल जज कोर्ट (कामरूप मेट्रो) गुवाहाटी में 100 करोड़ रुपए का दीवानी मानहानि का मुकदमा दायर किया है. रिंकी भुइयां सरमा के वकील पद्मधर नायक ने कहा कि वे उम्मीद कर रहे हैं कि मामला बुधवार को सूचीबद्ध होगा और वे इस मामले में आगे बढ़ेंगे.

ये भी पढ़ें: कांग्रेस के विरोध-प्रदर्शन के दौरान 197 में से 18 सांसद हिरासत में, पुलिस पर थूकने वाली कांग्रेस नेता पर दर्ज होगा मुकदमा : दिल्ली पुलिस

मनीष सिसोदिया और हिमंत बिस्वा के बीच छिड़ा था ट्विटर वॉर

बता दें कि इस महीने की शुरुआत में असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा और दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया के बीच वाकयुद्ध छिड़ गया था. मनीष सिसोदिया द्वारा कोविड पीपीई किट की खरीदी में भ्रष्टाचार के आरोप के बाद मानहानि का मुकदमा दायर करने की धमकी दी गई थी. मनीष सिसोदिया ने दावा किया कि पीपीई किट के ठेके सरमा की पत्नी से जुड़ी एक कंपनी को दिए गए. एक मीडिया रिपोर्ट का हवाला देते हुए उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा था कि असम सरकार ने अन्य कंपनियों से 600 रुपए की पीपीई किट की खरीदी की. उन्होंने कहा कि हिमंत बिस्वा सरमा ने अपनी पत्नी और बेटे के व्यापारिक भागीदारों की फर्मों को 990 रुपए प्रति पीस के लिए तत्काल आपूर्ति के आदेश दिए.

ये भी पढ़ें: ऑटो पंजीकरण और ट्रासंफर प्रक्रिया में बदलाव, लोन डिफॉल्टर होने पर फाइनेंसरों के कब्जे में लिया गया ऑटो एक से दूसरे व्यक्ति को अब नहीं होगा सीधा ट्रांसफर

असम सरकार ने आरोपों का किया था खंडन

हालांकि, असम सरकार ने इन आरोपों का खंडन किया कि मुख्यमंत्री हिमंत बिस्व सरमा का परिवार महामारी के दौरान पीपीई किट की आपूर्ति में किसी भ्रष्टाचार में शामिल था. इसके बाद असम सीएम हिमंत सरमा ने सिलसिलेवार ट्वीट में कहा था कि असम के पास तब शायद ही कोई पीपीई किट थी. उन्होंने कहा कि मेरी पत्नी ने आगे आने का साहस दिखाया और लगभग 1500 किट लोगों की जान बचाने के लिए सरकार को दान कर दी. उन्होंने इसके लिए एक पैसा भी नहीं लिया. तब मनीष सिसोदिया ने भी ट्वीट कर कहा था कि ‘‘माननीय मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा जी ! यह रहा आपकी पत्नी की जेसीबी इंडस्ट्रीज के नाम 990 रुपये प्रति किट के हिसाब से 5000 किट खरीदने का अनुबंध. बताइए क्या यह कागज झूठा है ? क्या स्वास्थ्य मंत्री रहते अपनी पत्नी की कम्पनी को बिना निविदा जारी किए खरीदी का ऑर्डर देना भ्रष्टाचार नहीं है ?” मनीष सिसोदिया ने नई दिल्ली में 4 जून को एक संवाददाता सम्मेलन में कहा कि असम सरकार ने अन्य कंपनियों से 600 रुपए प्रति किट के हिसाब से पीपीई किट खरीदी.