उपलब्धि : सतत् विकास लक्ष्य शहरी इंडेक्स में रायपुर नगरीय क्षेत्र ‘फ्रंट रनर’, मुंबई, इंदौर जैसे शहरों को छोड़ा पीछे…

रायपुर। नीति आयोग की ओर से जारी ’’सतत् विकास लक्ष्य शहरी इंडेक्स’’ में रायपुर नगरीय क्षेत्र को ’’फ्रंट रनर’’ की श्रेणी में रखा गया है. इंडेक्स में देश के 56 नगरीय क्षेत्रो को 77 सूचकांको में प्राप्त की गई प्रगति के आधार पर रैंकिंग दी गई है, जिसमें रायपुर ने 67.36 अंक प्रदान कर 20वीं रैंक प्राप्त की है. 56 नगरीय क्षेत्रो में सर्वाधिक अंक 75.5 प्राप्त कर शिमला प्रथम रैंक पर है.

उल्लेखनीय है कि नीति आयोग ने पहली बार सतत् विकास लक्ष्य अंतर्गत शहरी इंडेक्स को जारी किया है. छत्तीसगढ़ राज्य योजना आयोग से मिली जानकारी के अनुसार, इस इंडेक्स में रायपुर शहर का स्कोर व रैंक मुम्बई, कोलकाता, हैदराबाद, भुवनेश्वर, लखनऊ, प्रयागराज, रांची, इंदौर जैसे शहरों से बेहतर है.

गौरतलब है कि संयुक्त राष्ट्र संघ द्वारा सतत् विकास को सुनिश्चित करने 17 एसडीजी लक्ष्य निर्धारित किये गये है. एसडीजी के उद्देश्यों की पूर्ति हेतु देश तथा राज्य प्रतिबद्ध है. राज्य स्तर पर इन लक्ष्यों के अंतर्गत प्राप्त प्रगति के मूल्यांकन हेतु राज्य योजना आयोग द्वारा ’’एसडीजी स्टेट इंडिकेटर फ्रेमवर्क’’ एवं ’’एसडीजी बेसलाइन एवं प्रोग्रेस रिपोर्ट’’ तैयार की गई है, जिसे मुख्यमंत्री ने 12 जुलाई 2021 को जारी किया गया था. इस फ्रेमवर्क के आधार पर विभागों द्वारा सतत् अनुश्रवण व अनुशीलन रायपुर शहर की इस उपलब्धि में सहायक रहा है.

इसे भी पढ़ें : शाहिद कपूर ने किया खुलासा, फिल्म ‘जर्सी’ को बताया अपनी अब तक की सबसे… 

’’सतत् विकास लक्ष्य शहरी इंडेक्स’’ में रायपुर शहर को एसडीजी गोल 12 (रिस्पोंसिबल प्रोडक्शन एण्ड कंजप्शन) में सर्वाधिक 86 अंक, गोल 4 (क्वालिटी एजुकेशन) तथा गोल 6 (क्लीन वाटर एण्ड सेनिटेशन) में 79 अंक प्राप्त हुए हैं. साथ ही गोल 7 (अर्फोडेबल एण्ड क्लीन एनर्जी), गोल 9 (इंडस्ट्री, इनोवेशन एण्ड इंफ्रास्ट्रक्चर), गोल 11 (स्टेनेबल सिटीज एण्ड कम्युनिटीज), गोल 13 (क्लाईमेट एक्शन तथा गोल 16 (पीस, जस्टिस एण्ड स्ट्रोंग इंस्टीट्यूशन) में भी अच्छा स्कोर प्राप्त हुआ है. इन्हींं कारणों से रायपुर को ’’फ्रंट रनर’’ की श्रेणी में रखा गया है.

Read more : Is Crypto Looming? Panic Rises after Govt Lists Bill with Few Exceptions 

">

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!
 
धन्यवाद, लल्लूराम डॉट कॉम के साथ सोशल मीडिया में भी जुड़ें। फेसबुक पर लाइक करें, ट्विटर पर फॉलो करें एवं हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।