whatsapp

BJP नेता की दबंगई : 20 लोगों के साथ मिलकर बुजुर्ग दंपति और उनकी बेटी को पीटा, तमाशा देखती रही पुलिस

बरेली. BJP नेता अर्जुन अग्रवाल पर एक बुजुर्ग दंपति का आरोप है कि उन्होंने अपने 20 साथियों को ले जाकर घर में घुसकर मारपीट की. साथ ही घर का सारा सामान तोड़ दिया. बुजुर्ग डॉक्टर का आरोप है कि अर्जुन अग्रवाल घर में घुस कर जबरन प्रॉपर्टी के स्टांप पेपर पर साइन कराना चाह रहे थे और मेरी पूरी फैमिली को घर में बंधक बनाकर जमकर मारपीट की. जिसमें तीनों लोगों के गंभीर चोट आई है.

मामला बरेली कोतवाली क्षेत्र के रामपुर गार्डन का है. जहां बुजुर्ग डॉक्टर प्रमोद कुमार मदान अपनी पत्नी के साथ रहते है. उनका आरोप है कि अर्जुन अग्रवाल जो कि बीजेपी के नेता बताते हैं. वह अपने 15 से 20 साथियों के साथ घर में घुस आए और उन्होंने घर का सारा सामान तोड़ दिया, जिसके बाद परिवार को घर में बंधक बनाकर स्टांप पेपर पर साइन कराने के लिए कहने लगे. इसके अलावा घर में रखे सारे कागज भी अपने हवाले ले लिए और घर में घुसकर जमकर हम लोगों के साथ मारपीट की.

वहीं, डॉ प्रमोद कुमार मदान का कहना है कि वह जिस घर में रह रहे हैं उसका घर की आधी रजिस्ट्री उनकी पत्नी अंशु मदान के नाम है, जिसमें आधी रजिस्ट्री उनकी भाभी पूजा मदान के नाम था मकान का रकबा 1120 मीटर है. उनकी भाभी ने आधा हिस्सा अर्जुन अग्रवाल के नाम बेंच दिया है. अर्जुन अग्रवाल और अपने 15 से 20 साथियों के साथ जबरन घर में घुस आए और उन्होंने जगह पर जबरन साइन कराने के लिए कहने लगे और घर में घुसकर मारपीट करने लगे घर का सारा सामान तोड़ दिया.

इसके अलावा कमरे में अंदर बंद करके धमकाने लगे कि आप मकान की रजिस्ट्री के कागज दीजिए और स्टांप पेपर पर साइन कीजिए. जब इसका विरोध किया तो मेरे और मेरी पत्नी और मेरी बेटी के साथ मारपीट की, जिसमें हम लोगों के गंभीर चोट आई हैं और घर में कीमती सामान ले गए.

इसे भी पढ़ें – मायके से नहीं आई पत्नी तो BJP नेता ने जहर खाकर दी जान, गांव के बाहर जंगल में मिला शव

इस मामले में पीड़ित डॉक्टर प्रमोद कुमार मदान ने पुलिस पर भी गंभीर आरोप लगाए हैं. उनका कहना है कि जब कोतवाली इंस्पेक्टर को फोन किया तो उन्होंने कोई संतोषजनक जवाब नहीं दिया. उसके बाद डायल 112 पर कॉल की तो पुलिस पहुंची और पुलिस घर के बाहर ही खड़ी रही. इस दौरान घर के भीतर घुसकर बीजेपी नेता अपने साथियों के साथ मिलकर मारपीट कर रहे थे. ऐसे में किसी तरह से दूसरे कमरे का दरवाजा तोड़कर हम लोग बाहर भागे और अपनी जान बचाई.

छतीसगढ़ की खबरें पढ़ने के लिए करें क्लिक 
मध्यप्रदेश की खबरें पढ़ने यहां क्लिक करें
उत्तर प्रदेश की खबरें पढ़ने यहां क्लिक करें
दिल्ली की खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें
पंजाब की खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें
English में खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें
खेल की खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें
मनोरंजन की खबरें पढ़ने के लिए करें क्लिक

Related Articles

Back to top button